Essay On Nari Shakti in Hindi,- नारी शक्ति पर हिंदी निबंध


Essay-On-Nari-Shakti-in-Hindi


Essay On Nari Shakti in Hindi,- नारी शक्ति पर हिंदी निबंध-


नमस्कार दोस्तों आज हम आपके essay on nari shakti in hindi,  मतलब की नारी की शक्ति पर hindi essay लेकर आये है! इस hindi essay में हम essay on nari siksha in hindi के बारे में भी बात करेगे! भारत में नारी (nari) का स्थान हमेसा से एक बहुत ही गंभीर विषय रहा है! भारत में आज भी नारी को केवल एक घर पर काम करने वाली महिला के रूप में देखा जाता है! भारत का इतिहास साक्षी है की भारतीयों ने नारी (nari) जाति को हमेसा एक बहुत ही अच्छा स्थान प्रदान किया है! वैदिक युग में नारी को बहुत ही उच्च स्थान पर रखा जाता था! भारत के वेद और पुराणों में नारी को परमेश्वर के शक्ति के रूप में स्थान दिया गया है! विद्या, बिभूति, और शक्ति को सरस्वती , लक्ष्मी और दुर्गा के रूप में हम इनका पूजन आज भी करते है! 

प्राचीन युग के बहुत समय पहले परिवार माता के नाम से जाना जाता था और उस समय परिवार का मुखिया पिता नहीं बल्कि माता हुआ करती थी! लेकिन जैसे जैसे समय गुजरता गया और धीरे धीरे नियम भी बदल गया और आज के समय में घर का मुखिया एक आदमी होता है! लेकिन हम ये भी कह सकते है! नारी को लोग आज भी पूजते है! आज से 3 हजार साल पहले बैदिक युग में महिला को उच्च सामाजिक अधिकार प्राप्त थे! उस समय में उनको बैदिक मंत्रो को पढने के साथ साथ वेद मंत्रो की रचना करने का भी अधिकार था! इसलिए आज हम बात को मान सकते है! की कोई भी धार्मिक कार्य एक महिला के बिना नहीं पूरा हो सकता है! पुराने जबाने में महिला घर का काम करने के साथ साथ राज्य प्रबंध का भी काम करती थी! और कभी कभी युद्ध के मैदान में भी पुरुषो का साथ देती थी! 

समय के साथ साथ परिस्थितिया और सामाजिक परिवेश भी बदलता गया! इसके साथ साथ आचार विचार में भी परिवर्तन होते रहे! देश में अनेक सामाजिक, धार्मिक, और राजनैतिक क्रांति हुई! इसलिए प्राचीन जबाने के नियम धीरे धीरे बदलते गए और नये नये नियम बनते गए! और इसका ये फर्क हुआ की मध्य युग आते आते महिला की सामजिक स्थिथि में बहुत ही कमी आ गयी! आदर के नाम पर नारी केवल मनोरंजन का वस्तु बन कर रह गई! जब भारत पर विदेशी यवनों ने हमला करके अपने राज्य की स्थापना की उसके बाद देश की सभ्यता पर संकृत पर बहुत ही गहरा प्रभाव पढ़ा! और उसके बाद जब भारत में मुस्लिमो में अपना सासन स्थापित किया उसके बाद  नारी (nari) जाति का आधा पतन हो गया! और उनकी आजादी घर के दीवारों तक ही रह गयी! साहित्य और समाज में वह मनोरंजन का साधन और घर में दासी बन कर रह गई! विचार कितने बदल गए उसके लिया कबीरदास का एक दोहा प्रयाप्त है!

नारी की झाई पड़त, अँधा होत भुजंग 
कबिरा तिनकी कोन गति, जो नित नारी के संघ 

बदलते जबाने के साथ साथ नारी को हर एक छेत्र में आघात लगा! और इसके कारण पर्दा प्रथा और बाल विवाह का प्रचलन शुरु हो गया! और एक कन्या को पढाना अनावश्यक समझा जाने लगा! और सामजिक कार्यो में नारी का प्रवेश बंद हो गया! इस प्रकार नारी शक्ति का प्रतीक ना हो कर एक अबला नारी बन कर रह गई! नारी की इस प्रकार की स्थिथि के लिए कवि मैथली शरण गुप्त ने इन पंक्ति को कहा है!

अबला जीवन हाय, तुमारी यही कहानी 
आचल में है दूध और आखों में है पानी 

लेकिन आधुनिक युग में फिर से नारी के अंदर बदलाव आने लगा! इस युग में नारी पूज्य के पात्र रहे या ना रहे लेकिन वह आज पुरुष के बराबरी की हर एक काम कर रही है! हलाकि अभी पूरी तरह से सभी नारिया ऐसा काम नहीं कर रही है लेकिन एक बात तो तय है! नारी के स्थिथि पहले के मुकाबले अब सुधार रही है! पुनर्जागरण काल में समाज सुधारक और विचारको के नारी की दुर्दशा पर भी ध्यान दिया! स्वामी दयानन्द सरस्वती, राजा राममोहन राय, इश्वरचन्द विद्यासागर, और महात्मा गाँधी जैसे और भी महापुरशो ने जिस संस्कृत को जन्म दिया उससे नारी मुक्त आन्दोलन की एक लहर फ़ैल गई! और इसके असर इस बात से हुआ की अंग्रेजो को भी बाध्य हो कर सति प्रथा जैसे कानूनों पर रोक लगाना पढ़ा! और उसके बाद धीरे धीरे नारी को अधिकार मिलने लगा! बाल विवाह, अनमेल विवाह, पर्दा प्रथा, आदि जैसी चीज़े अब कमजोर पढने लगी! और बिधवा विवाह जैसी चीजों पर कार्य जोर देने लगा! सभी विचारक अपने अपने तरीके से नारी मुक्त आन्दोलन में अपना योगदान दिया! और उसके बाद नारी को सामाजिक अधिकार दिए जाने लगे! और लोगो को नारी के उपयोगिता के बारे में पता चलने लगा! और इसी के साथ साहित्य में नारी जागरण का सन्देश गुज उठा!

Also Read-


भारत के स्वतंत्रता संग्राम में झासी की रानी लक्ष्मीबाई  से लेकर कस्तूरबा गाँधी, सरोजनी नायडू, कमला नेहरु आदि ने पुरष के साथ कन्धा से कन्धा मिला कर काम किया! और बहुत सारी मुसीबत को भी साहा! नेताजी सुभाष चन्द बोस के साथ बन्दुक धारण करने वाली आजाद हिन्द सेना के नारी सैनिको का साहस को भुलाया नहीं जा सकता है! 

जब भारत आजाद हुआ उसके बाद नारी राजनीति में भाग लेकर अपनी प्रतिभा का पूरा परिचय दिया! भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी सबसे बढ़िया राजनीतिक महिला थी! नारी ने एकबार भी ये साबित कर दिया की वह अब किसी भी छेत्र में अब अबला नहीं रही! और इसके साथ साथ उसने ये भी साबित कर दिया की वह अब हर आदमी के साथ कंधे से कन्धा मिलकर अंदर और बाहर सभी जगह पर कार्य करने की छमता है! भारतीय संबिधान में भारत की महिला को आदमियों के भाति समान अधिकार प्रदान किये गए है! 

इसके अलावा गावों में भी महिला की भागीदारी सुनिश्चित की गई है! इस प्रकार भारतीय नारी(nari) ने अपनी शक्ति(shakti) को पहचान लिया है! और उसको हर एक छेत्र में स्थापित भी कर लिया है!
प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी Essay On Nari Siksha in hindi और  Essay On Nari Shakti in Hindi, से related कोई इनफार्मेशन है! तो आप उस इनफार्मेशन को मेरे पर्सनल ईमेल 
saddamhusen596@gmail पर भेज सकते है!. हम आपके उस इनफार्मेशन आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे! यदि आपको Essay On Nari Shakti in Hindi पसंद आया हो तो आप इसको अपने दोस्तों के साथ Social Media पर शेयर करे-


Chandra Shekhar Azad Biography in Hindi - चंद्रशेखर आजाद का जीवन परिचय


Chandra-Shekhar-Azad-Biography-in-Hindi
Chandra Shekhar Azad


Chandra Shekhar Azad Biography in Hindi - चंद्रशेखर आजाद का जीवन परिचय-


नाम- पंडित चन्दशेखर तिवारी 
जन्म- 27 जुलाई 1906 
जन्मस्थान- डाबरा मध्य प्रदेश, इंडिया 
पिता का नाम- पंडित सीताराम तिवारी 
उपनाम- आजाद(Azad ), पंडित जी, बलराम, क्विक सिल्वर, 
मरने का स्थान - अल्फ्रेड  पार्क, उत्तर प्रदेश

हेल्लो दोस्तों नमस्कार आज हम Chandra Shekhar Azad Biography in Hindi मतलब की चंद्रशेखर आजाद का जीवन परिचय के बारे में इस post में पढेगे! इसके साथ साथ हम life history of chandrashekhar azad मतलब की चंद्रशेखर आजाद की पूरी जीवन के इतिहास के बारे में भी जानेगे!


अगर एक इंडियन होकर भी यदि Chandra Shekhar Azad  के बारे में ना जाने तो हमको अपने आप को इंडियन कहने का कोई हक़ नहीं है! क्योकि Chandra Shekhar Azad  जैसे आंदोलकारियों की वजह से आज हम चैन की सास लेते है! और अपने आप को स्वतंत्र महसूस करते है! Chandra Shekhar Azad  एक ऐसे महान भारत के लाल है! जिसने भारत की आजादी के खातिर अपने ही बन्दुक से अपने आप को गोली मार ले थी! 

चन्दशेखर आजाद(Chandra Shekhar Azad) का जन्म २७ जुलाई 1906 को डाबरा मध्य प्रदेश में हुआ था! इनके पिता का नाम  पंडित सीताराम तिवारी और माता का नाम जगरानी देवी था! Bhagat Singh की ही तरह  चन्दशेखर आजाद भी भारत के एक प्रबल स्वतंत्रता सेनानी थे! जब 1922 में गाँधी जी ने असहयोग आंदोलन बंद कर दिया तो इस आंदोलन के बंद होने के बाद  चन्दशेखर आजाद की पूरी बिचारधारा ही बदल गयी और उसके बाद  चन्दशेखर आजाद ने भारत को पूरी तरह से  स्वतंत्रता दिलाने में जुट गए! चन्दशेखर आजाद भारत को स्वतंत्रता दिलाने के लिए कुछ ना कुछ नया करने की कोशिश करने लगे! इसी  बीच वह हिन्दुस्तान रिपब्लिक एसोसियन के सदस्य बन गए!  उस समय  हिन्दुस्तान रिपब्लिक एसोसियन आये दिन अंग्रेजो के खिलाब कुछ न कुछ कांड करती रहती थी!  हिन्दुस्तान रिपब्लिक एसोसियन के मध्यम से चंदशेखर आजाद, रामप्रताप बिस्मिल और उनके कुछ साथियो ने मिल कर बहुत बढ़ा कांड कर डाला जो इतिहास में काकोरी कांड के नाम से जाना जाता है! इस कांड के बाद  चंदशेखर आजाद, रामप्रताप बिस्मिल और उनके साथियो को  पुलिस चप्पे -चप्पे  पर ढूढ़ने लगी! इसके अलावा भी और भी बहुत से कांड चंदशेखर आजाद ने किया था जैसे- जब अंग्रेजो ने लाठीचार्ज पर लाला लाजपत  राय पर लाठियों की बारिश कर दी थी! जिसके कारन उनकी मौत हो गयी थी और जिसका चन्द्रशेखर के ऊपर  बहुत बुरा असर पड़ा और चंदशेखर आजाद ने भगत सिंह के साथ मिल कर लाला लाजपत राय के कातिल को मौत के घात उतार दिया और उसके बाद दिल्ली जा कर असेम्बली पर बम  फेक दिया! इन सभी घटना  के बाद अंग्रेजो के अंदर एक तरह का भय पैदा हो गया और अंग्रेज उनको हर एक जगह पर तलासने लगे! 

चन्दशेखर आजाद ( Chandra Shekhar Azad) कैसे स्वतंत्रता आंदोलन में कूदे-

जब 1921 में पंजाब के अमृतसर में जलियाँवाला बाग़ वाला कांड हुआ तो इस कांड से पुरे देश में खलबली मच गई! और पुरे देश के युवा वर्ग के अंदर  चिंगारी की लहर जाग उठी! इसी बीच जब गांधी जी ने १९२१ में असहयोग आंदोलन चलाने का निर्णय किया! तो ये चिंगारी आग में बदल गयी! और वह  पुरे देश में तेज़ी से फ़ैलाने लगा!  असहयोग आंदोलन में सभी युवा भी सड़कों पर उतर कर अंग्रेजो का बिरोध करने लगे! सभी युवा के भाति  चन्दशेखर आजाद भी अपने स्कूल के छात्रों को लेकर सड़क पर उतर आये और अंग्रेजो का विरोध करने लगे! अंग्रेजो का विरोध करने के कारण  चन्दशेखर आजाद पहली बाद जेल गए! जेल जाने के बाद अंग्रेज सरकार ने उनको १० कोडे की सजा सुनाई! और चन्दशेखर आजाद को एक खुले मैदान  में लेकर गए और उनके सारे कपडे को उतार कर उनको एक खम्बे से बांध दिया! और उनको कोडे मरना सुरु कर दिया! कहा जाता है की चन्दशेखर आजाद के ऊपर पढ़ने वाले हर के कोडे पर वह "भारत माता की जय" कह कर चिल्लाते थे! 

एक 15-16 साल का लड़का जिस पर पढ़ने वाले हर एक कोडे से उसकी चमड़ी उधड़ जाती  थी! तब भी वह भारत माता की जय कह कर चिल्लाता था! चन्दशेखर आजाद तब तक भारत माता की जय का नारा लगाते रहे जब तक की वह बेहोसे ना हो गया! 

" एक 15 साल के बच्चे के अंदर देशप्रेम की इस भावना को मै सच्चे  दिल से सलाम करता हु"


चन्दशेखर आजाद ( Chandra Shekhar Azad) का बलिदान-

असेम्बली बम कांड में भगत सिंह, राजगुरु, और सुखदेव को दोषी पाया गया और उनको  फासी की सजा सुनाई गयी! इस बाद से  चन्दशेखर आजाद बहुत ज्यादा दुखी हुए! चन्दशेखर आजाद अपने तीनो  मित्रो की सजा कम करने की बहुत कोशिश किया! चन्दशेखर आजाद तीनो की फसी की सजा कम  करने के लिए नेहरु जी से मिले और चन्दशेखर आजाद ने नेहरु से कहा की आप अंग्रेजो पर जोर डाले की इनके फसी की सजा उम्रकैद में कर दिया जाये!  लेकिन पंडित नहरू ने इस बाद से सीधा इंकार कर दिया! इस बात को लेकर दोनों में बहुत ज्यादा बहस हुई! इससे  पंडित नहरू को बहुत गुस्सा आया और वह  चन्दशेखर आजाद को वहा  से तत्काल जाने के लिए बोले दिया! चन्दशेखर आजाद को इस पर बहुत गुस्सा आया और वह अपने साइकिल पर बैठ कर अल्फ्रेड पार्क की तरह चल  दिए! अल्फ्रेड पार्क में जा कर वह अपने एक दोस्त सुखदेव राज से इसी बारे में बात करने लगे! तभी वहा  पर ब्रिटिश सरकार का एक वरिस्ट अधिकारी पुलिस की एक सेना के साथ आ  आया गया! और पुरे पार्क को चारो तरफ से घेर  लिया! पुलिस और चन्दशेखर आजाद के बीच भयकर गोलीबारी हुई! तभी चन्दशेखर आजाद की सभी गोलिया ख़तम हो गयी! और उनके पास सिर्फ एक ही गोली बची! चन्दशेखर आजाद अंग्रेजो की गोली से  मरने से अच्छा अपनी गोली से मरने का फैसला किया! और चन्दशेखर आजाद अपने बच्चे हुए १ गोली से खुद ही गोली मार ली! ये घटना २७ फ़रवरी 1931 के  दिन घटित हुई थी! जिस दिन को हम हमेशा याद रखेंगे! 


इन को भी पढ़े-

swami vivekananda biography in hindi

Kapil Sharma Biography In Hindi 

subhash chandra bose biography in hindi


जिस पेड़  के निचे आजाद की मौत हुई थी लोग उसकी पूजा करने लगे! चन्दशेखर आजाद की मौत के बाद पुरे देश में एक बिरोध का माहोल बन गया! चन्दशेखर आजाद की मौत के दूसरे दिन उनके सोख में एक  रैली निकली  गयी ! उस रैली में चन्दशेखर आजाद को नमन करने इतना ज्यादा लोग आये जिसकी हम कल्पना नहीं  कर सकते है! 

चन्दशेखर आजाद के द्वारा दिए गए बलिदान को हम कभी नहीं भूल पायेगे! जिस जज्बे  के साथ चन्दशेखर आजाद ने स्वाधीनता आन्दोलन में अपना योगदान दिया! उसके लिया हम उनको हमेशा याद रखेंगे! जब चन्दशेखर आजाद की मौत हुई उनके द्वार शुरु किये गए आंदोलन में हजारो  की संख्या में युवा शामिल हुए! और जिसके फलस्वरूप चन्दशेखर आजाद के मौत के 16बी वर्षगांठ पर भारत को आजाद कर दिया गया! और वह दिन 15 अगस्त 1947 का था! चन्दशेखर आजाद के भारत को आजाद कराने का सपना पूरा हो गया! लेकिन  उनको अपने आजाद भारत को देखने का सुख कभी नहीं मिला

 Chandra Shekhar Azad  उस हर एक भारतीय के लिए प्रेरणा है जो आज चैन की सास ले रहा है! चन्दशेखर आजाद के बलिदानो को हमको कभी नहीं भूलना चाहिये! तो चलो दोस्तों आज हम चन्दशेखर आजाद के लिए अच्छे मन  से प्राथना करते है! की उपरवाला उनकी आत्मा को हमेशा शांति दे!
अगर आप  Chandra Shekhar Azad  के बलिदानो को याद रखना चाहते  है! तो Chandra Shekhar Azad Biography in Hindi को हर एक  इंडियन के साथ शेयर करो जो की उनको भूलते जा रहा है! इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लोगो के साथ शेयर करके  चन्दशेखर आजाद(Chandra Shekhar Azad)  के बलिदानों  को लोगो को  बताये!


प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी  Chandra Shekhar Azad Biography in Hindi, life history of chandrashekhar azad in hindi के बारे में कोई इनफार्मेशन है! जो आपके के हिसाब से लोगो के साथ शेयर करना चाहिए तो आप उस इनफार्मेशन को मेरे पर्सनल ईमेल  Saddamhusen596@gmail.com पर भेज सकते है!. हम आपके उस इनफार्मेशन को  Chandra Shekhar Azad Biography in Hindi में आपके नाम के साथ add करेगे!

28 Motivational Inspirational Life Quote in Hindi-


best-Motivational-life-quote-hindi
 Inspirational life quote

नमस्कार दोस्तों आज हम आपके लिए life quote in hindi मतलब की जीवन के बारे में सुविचार लेकर आये है! आज मै जिन life quote in hindi आपके साथ शेयर करेगा वह सभी आपको जरुर जीवन के बारे में आपकी सोच को बदल देंगे! इस post में शेयर किया गए हर एक Motivational Life Quotes को मैंने बहुत ही मेनहत के साथ लिखा है इसलिए यदि आपको इन Best Quotes on Life in Hindi. का कलेक्शन पसंद आये तो कृपया करके इसको अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे- तो चलो दोस्तों  Hindi Quote on Life को देखते है और इन Inspirational Life Quotes के विचार को अपने अंदर ग्रहण करते है! 

28 Motivational Inspirational life quote in hindi- 

Hindi Quote on Life 1- जीवन वास्ताव में बहुत आसान है! लेकिन हम इसको बहुत कठिन बनाने और मानने पर ज्यादा जोर देते है!

Inspirational Life Quotes 2- आपका जीवन आनंदमय है या नहीं है! खुश रहने के लिए ये बात कोई मायने नहीं रखती है!

Best Quotes on Life in Hindi3- जीवन अपने आपको खोजने के बारे में नहीं बल्कि जीवन अपने आपको  बनाने के बारे में है! 

Motivational Life Quotes 4- हम दिन को याद नहीं रखते है! लेकिन पल को याद रखते है! 


life quote in hindi 5- जीवन बुद्धिमान के लिए एक सपना, मुर्ख के लिए खेल, अमीर के लिए कामेडी और गरीब के लिए एक संघर्ष है!

Hindi Quote on Life 6- जीवन एक समस्या को हल करने के लिए नहीं है! बल्कि जीवन वास्तविकता को अनुभाव करने के लिए है! 

Best Quotes on Life in Hindi. 7- जीवन 10% आपके लिए और 90% आपकी प्रतिक्रिया के लिए होता है!

 Motivational Life Quotes 8- अपनी आखों को खोलो, अपने भीतर देखो, और सोचो की आप अपने जीवन से संतुष्ट है! 

Inspirational Life Quotes 9- हमारा जीवन हमेसा के लिए हमारे प्रमुख विचारो का प्रमाण ब्यक्त करता है!

life quote in hindi 10- क्या कोई ऐसी चीज़ है जिसको आप अपनी जीवन से बदल सकते है!

 Hindi Quote on Life 11- जीवन में ऐसा कोई नहीं है जो अपने कल के लिए तैयार हो रहा है! 

Best Quotes on Life in Hindi. 12- जीवन हमेसा आपको एक दूसरा मौका देती है जिसको हम आने वाला कल कहते है!

Motivational Life Quotes 13- हमारी गलतियों ही हमारा जीवन है! 

Inspirational Life Quotes 14- अच्छे दोस्त, अच्छे किताब और एक बढ़िया नीद यह एक आदर्श जीवन है! 

life quote in hindi 15- अधिकांश लोगो को जीवन माँ मुख्य उद्देश नहीं पता होगा है! जीवन का मुख्य उद्देश आनंद लेना है!

Hindi Quote on Life 16- जीवन एक बिज्ञान नहीं बल्कि ये एक कला है!

Best Quotes on Life in Hindi 17- हर आदमी मर जाता है! हर आदमी कभी भी सही तरीके की जीवन नहीं जी पाता है!

Motivational Life Quotes 18- जीवन की लम्बी अवधि शिकायत के लिए बहुत ही छोटी है!

Inspirational Life Quotes 19- बीता हुआ कल इतिहास है, आने वाला कल रहस्य है, और आज का दिन एक तोफा है इसी कारण इसको वर्तमान कहा जाता है!

life quote in hindi 20- जीवन बहुत छोटा है! इसलिए इसका आनंद उठाये!

Inspirational Life Quotes 21- जीवन एक तर्क है आप इससे जीत नहीं सकते है!

Motivational Life Quotes 22- बहुत ज्यादा भरोसा मत करो, बहुत ज्यादा प्यार मत करो, बहुत ज्यादा उम्मीद मत रखो क्योकि ये बहुत ज्यादा आपको एक दिन बहुत ज्यादा चोट दे सकता है!

Motivational Life Quotes 23- कभी भी अपना कोई मोमेंट बर्बाद ना करो क्योकि हो सके ये आपका आखिरी मोमेंट हो!

Best Quotes on Life in Hindi 24- कुछ दिन बढ़िया होते है, कुछ दिन खराब होते है, आप कभी भी अच्छे या बुरे दिन के बारे में ना सोचे आप ये सोचे की आप हर एक स्तिथी में खुश रहे!

Hindi Quote on Life 25- परिवार और दोस्त के बिना जीवन थी उसी प्रकार होता है जिस प्रकार एक पेन स्याही के बिना होता है!

Inspirational Life Quotes 26- जीवन एक आइसक्रीम की तरह है इसलिए इसको पिघलने से पहले इसका आनद पूरा आनंद ले-

Motivational Life Quotes 27- यदि आप अपना समय बर्बाद कर रहे है तो इसका मतलब की आप अपना जीवन बर्बाद कर रहे है!

Best Quotes on Life in Hindi 28- जीवन एक बहुत कठिन खेल है जिसको आपको हर एक हाल में खेलना होगा!


Golden Rule Of Life- जीवन के बारे में 15 महत्त्पूर्ण नियम-


1- हमेसा भगवान में विश्वाश करो-
2- आपके बारे में कौन क्या सोचता है इसकी चिंता ना करो-
3- अपने अतिम के साथ शांति बनाये रखो!
4- समय सबकुछ भर देता है इसलिय समय को थोडा समय दो 
5- कभी अपने जीवन की तुलना दी दुसरे के जीवन से ना करो
6- किसी भी चीज के बारे में ज्यादा सोचना बंद कर दो जो भी करना है उसको तुरंत कर दो 
7- कोई भी आपकी सुख और दुःख नहीं बदल सकता है 
8- हमेसा अपने आप से ईमानदार बनो
9- कितनी भी बड़ी समस्य क्यों ना हो हमेसा शांति बनाये रखो-
10- हमेसा अपने आप और अपने मन को खुश रखो-
11- कभी भी दुसरे से नफरत ना करो-
12- हमेसा साधारण तरीके से रहो-
13- अपने आपको कभी ओवेर्स्मार्ट ना समझो
14- जितना हो सके उतना दुसरे की मदद करो 
15- किसी भी चीज़ के बारे में ज्यादा चिंता ना करो-

मै उम्मीद करता हु की आपको Best Quotes on Life in Hindi. का ये कलेक्शन जरुर पसंद आया होगा यदि आप इस तरह  के और Inspirational Life Quotes पाना चाहते है तो अभी इस website की फेसबुक पेज को लाइक करे! इसके साथ साथ यदि आपको Motivational Life Quotes in hindi पसंद आया हो तो इसको अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे!

प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी कोई Hindi Quote on Life, Motivational Life Quotes, Inspirational Life Quotes, life quote in hindi है! जो आपके के हिसाब से लोगो के साथ शेयर करना चाहिए तो आप उस Best Quotes on Life in Hindi को मेरे पर्सनल ईमेल  saddamhusen596@gmail पर भेज सकते है!. हम आपके उस इनफार्मेशन या आर्टिकल को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!

#Tag

life quote in hindi, Inspirational Life Quotes, Motivational Life Quotes, Best Quotes on Life., Hindi Quote on Life , Quotes in Hindi, sad life Quotes, hindi quotes, success life quotes, fail life Quotes, 



3 ज्ञानवर्धक हिंदी कहानी- Hindi Moral Story For Kids

Hindi-Moral-Story-For-Kids
Hindi Moral Story For Kids

नमस्कार दोस्तों आज हम आपके लिए 3 hindi short stories for kids मतलब की बच्चो के लिए 3 प्रेरणादायक हिंदी कहानिया ले कर आये है! मै जिन hindi moral story for kids को आपके साथ शेयर करने जा रहा हु वह सभी कहानिया बच्चो के लिए बहुत काम की है! इसलिए सभी बच्चे इन कहानियो को ध्यान से पढ़े और इसके moral (ज्ञान) को अपने अंदर ग्रहण करे- तो चलो दोस्तों उन  3 hindi moral story को पढ़ते है!

 बच्चो के लिए 3 ज्ञानवर्धक हिंदी कहानियाँ- hindi moral story for kids


hindi short stories 1- चतुर सियर

एक समय कि बात है! महाचतुर नाम क एक सियार रहता था! एक दिन उसे रास्ते मे मरी हुई लोमड़ी दिखाई दिया! लोमड़ी के पास ही एक चिता सो रहा था! महाचतुर सियार को उस लोमड़ी को खाने का उपाये सोचने लगा ! तभी वहा एक शेर आया! शेर ने महाचतुर सियर से कहा की तुम यहाँ पर क्या कर रहे हो! महाचतुर सियर ने चालाकी से कहा- महाराज चीते ने लोमड़ी का शिकार किया है! मै उसी की रखवाली कर रहा हु! ये सुनकर शेर को बहुत गुस्सा आ गया! शेर ने कहा मै जंगल का राजा हु! मेरे रहते हु शिकार का साहस कौन कर सकता है!  महाचतुर सियर ने कहा महाराज मैंने चीते को बहुत समझाया लेकिन उसने मेरी बात नहीं सुनी! 
शेर बहुत गुस्से में आकर बोला चीते की इतनी मजाल की मेरे रहते हुए वह शिकार करे! कहा है! चीता मुझे उसके पास लेकर चलो! चीता भी अब तक नीद से जाग गया था! शेर चीता को देखते ही उस पर टूट पड़ा! ये देख कर चीते को भी बहुत गुस्सा आया! और चीते ने भी शेर के ऊपर टूट पडा! दोनों में काफी देर तक लड़ाई होती रही! दोनों में एक दुसरे को बहुत बुरी तरह से घायल कर दिया! और थोड़ी देर में दोनों वही ढेर हो गए! अपने सफलता पर  सियर  बहुत खुश हुआ! और मरी हुई लोमड़ी को लेकर चला गया! 

hindi moral story 2- मुर्ख मोढ़क

प्राचीन काल की बात है! एक मठ में एक साधु रहते थे! उस साधु के बहुत से शिष्य! उन सभी शिष्यों में एक मोढ़क नाम का शिष्य बहुत मुर्ख था! 
एक दिन गुरु जी ने मोढ़क को घी और तेल लाने के लिए बाजार में भेजा! मोढ़क था महामुर्ख उसने सोचा की दो चीज़ लानी है क्यो ना दोनों चीज़ को लाने के लिए एक ही बर्तन लेकर चलू! उसने धुपदहन नामक बर्तन लिया! इस बर्तन में दोनों तरफ मुह होता है! दुकान पर पहुच कर  मोढ़क  ने इस बर्तन में पहले तरफ एक तरफ घी डलवाया और फिर तेल डलवाने के लिए जैसे ही बर्तन को उलटना चाहा तो दूकानदार ने उसको टोका- "अरे मुर्ख" ! घी गिर जायेगा ऐसा मत करो! लेकिन  मोढ़क  गुस्से में आकर बोला की " तुम स्वयं मुर्ख हो " ! एक एक शब्द भी नहीं पढ़े हो और मुझे मुर्ख बता रहे हो! चुपचाप बर्तन में तेल डालो! 

दूकानदार गुस्से में आकर तेल बर्तन में डाल दिया!  मोढ़क बहुत खुश होकर गुरु जी के पास आ गया! गुरु जी ने पूछा दोनों चीज़े एक ही बर्तन में कैसे लाये  मोढ़क!  मोढ़क बर्तन में तेल दिखाते हुए बोला ये तेल है गुरु जी और गुरु जी ने पूछा की घी कहा पर है!  मोढ़क ने तुरंत बर्तन को उलट कर दिखया और कहा गुरु जी घी इसमें था! पर ना जाने कहा चला गया! बर्तन को उलटने से तेल भी गिर गया! घी पहले ही दुकान पर गिर गया था! ये सब सुन कर गुरु जी को बहुत गुस्सा आया और गुरु जी ने  मोढ़क को बहुत डाटा!  मोढ़क इस तरह की मुर्खता पर सभी शिष्यों ने उसकी मुर्खता पर बहुत हँसी उडाई!


hindi moral story  3- मेनहत से धन बढ़ता है 


एक साधु को को तीर्थ यात्रा पर जाना था! उनके शिष्य बहुत दुखी थे की उनके जाने के बाद क्या होगा! एक दिन साधु के अपने चारो शिष्यों को बुलाया! साधु के चारो शिष्यों को एक एक किलो चना देकर कहा- चने का सदुपयोग करना" ऐसा कह कर साधु तीर्थ यात्रा के लिए निकल पड़ा! 

साधु के पहले शिष्य ने चने का उत्तम भोजन बनाकर उसको खाकर उसका सदुपयोग किया! साधु के दुसरे शिष्य ने चने को गरीबो में बाट दिया! तीसरे शिष्य ने उस चने को बहुत ही संभाल कर थैली में रख कर उसको बक्से में बंद करके रख दिया! चौथे शिष्य ने उस एक किलो चने को खेत में बो दिया! खेत में चने की फसल बहुत अच्छी हुई! और एक एक किलो चना से एक बोरा चना हो गया! दुसरे साल भी उस एक बोर चने को अधिक खेत में बो दिया! और उस एक बोर चने से और अधिक चने हो गए! कुछ समय के बाद साधु वापस आया! साधु के चारो शिष्यों को बुला कर उस एक किलो चने के बारे में सबसे पूछा! सभी ने उस चने का उपयोग कैसे कैसे किया वह साधु को बताया! 

 चौथे शिष्य ने कहा - गुरु जी आपका दिया हुआ चना मेरे गोदाम में रखा है! गुरु जी ने चौथे शिष्य के साथ उसके गोदाम में गए! वहा गुरु जी ने देखा, चनो के बोरे से उसका पूरा गोदाम भरा पडा है! गुरु जिन चौथे शिष्य से बहुत खुश हुए! और उसके बाद गुरु जी ने कहा- मेनहत से ही सम्पति बढ़ती है! चौथे शिष्य ने ही मेरे दिए गए चने का सही सदुपयोग किया है!

तो दोस्तों आपने इन hindi moral story का जरुर आनंद उठाया होगा और आपको इन hindi short stories कुछ ना कुछ जरुर सिखने को मिला होगा! यदि आप इस तरह के और hindi story for kids पाना चाहते है तो आप अभी हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे! अगर आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक करते है तो आपको इस website की सभी update डायरेक्ट आपको सोशल मीडिया पर मिल जायेगा!

इसको भी पढ़े-

Motivational Story in Hindi | बेईमानी का फल



प्रिय मित्रो यदि आपके पास  hindi short stories for kids, hindi moral story for kids  या फिर कोई और moral story है! जो आपके के हिसाब से लोगो के साथ शेयर करना चाहिए तो आप उस hindi story  को मेरे पर्सनल ईमेल  Saddamhusen596@gmail पर भेज सकते है!. हम आपके  hindi story  को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!


Tag#
Moral Story, Story For Kids, Kids Hindi Story, Motivational Hindi Story, story in Hindi,  short stories,  Hindi Story, story in hindi with moral , story for kids in hindi, story in hindi, small stories in hindi, hindi kids story, very short hindi stories, latest moral story, hindi good stories with morals... 

Anar Ke Fayde- अनार के 8 बेहतरीन फायदे-


Anar-Ke-Fayde
Anar Ke Fayde

हेल्लो दोस्तों आज के post में हम anar ke fayde in hindi  मतलब अनार से होने वाले 8 बेहतरीन फायदे के बारे में बात करेगे!  अनार(anar)  एक ऐसा फल है! जिसको खाने से हमारे शरीर के अंदर बहुत से फायदे होते है! वैसे तो ज्यादातर लोगो को अनार का रस (juice) पीना ज्यादा पसंद होता है! और कुछ लोग अनार के दाने को भी खाना पसंद करते है! जब हम अनार को बाजार से खरीदते है तो उसके दाने को खाने के बाद अनार के छिलके(anar ke chilke) को फेक देते है! यदि आप भी ऐसा करते है तो ऐसा करना बंद कर दे क्योकि अनार के छिलके फायदे  (anar ke chilke ke fayde ) बहुत होते है! अनार के छिलके(anar ke chilke)  से हमको क्या क्या फायदा होता है उसके बारे में हम अपने अगले पोस्ट में पढेगे! बहुत ही कम लोगो को पता होगा की अनार के छिलका (anar ke chilke) का सही तरीके से उपयोग करने पर भी वह हमारे सेहत के लिए बहुत लाभकारी होगा! अनार के छिलके के लाभकारी फायदे(anar ke chilke ke fayde) के बारे में हम अगले पोस्ट में चर्चा करेगे! 

जब हमारे घर में किसी को कोई बीमारी होता है! तो हम उसको डॉक्टर के पास लेकर जाते है! तो डॉक्टर हमेसा बोलते है की इनको रोज अनार का रस (anar juice) पिने की जरूरत है! इस तरह डॉक्टर भी मानते है की अनार हमारे सेहत के लिए बहुत लाभकारी है! और इसका सेबन करने से हमारे शरीर में चुस्ती बनी रहती है! अनार एक गुणकारी फल है! और अनार का सेवन से हमको बहुत से लाभ मिलते है! आज मै आपको अनार के फल के सेवन करने से मिलने वाले बहुत ही बढ़िया फायदे के बारे में आपके साथ शेयर करुगा! तो ध्यानपूर्वक इस पोस्ट को पढ़े और अनार के फायदे(anar ke fayde) का आनंद उठाये-


Anar Ke Fayde- अनार के फायदे


Anar Ke Fayde 1-

 यदि हम हर रोज एक गिलास अनार का रस (anar juice)  पिये तो ये हमारे शरीर के लिए बहुत लाभकारी होगा! क्योकि रोज अनार का रस पिने से हमारे खून का संचालन अच्छी तरह से होगा! और हमारा शरीर पूरी तरह से स्वस्थ रहेगा!

Anar Ke Fayde 2-

 यदि कोई औरत पेट से है! तो हर रोज एक अनार(Anar ) का सेवन उसको और उसके बच्चे को ताकत प्रदान करेगा! जिसके कारण जब उस बच्चे की delevery होती है! तो उसका बच्चा स्वस्थ और तंदरुस्त पैदा होता है! इसलिए हम कह सकते है! की एक गर्भवती महिला को अनार का सेवन करने से उसको काफी लाभ मिलता है!

Anar Ke Fayde 3-

अनार एक healthy फल है! यदि आप अनार को रोजाना प्रयोग करते है! तो ये आपके त्वचा को और निखारेगा! लेकिन आपको यहाँ एक बात का और ध्यान देना होगा की यदि आप अपने  त्वचा को और अधिक सुन्दर करना चाहते है! तो आपका अनार का सेवन ज्यादा समय तक करना पड़ेगा! जब आप अनार का सेवन ज्याद समय तक करेगे तभी इसका असर आपने  त्वचा पर पड़ेगा!

Anar Ke Fayde 4- 

अनार के फुल को छाया में सुखा कर इसको बारीक़ पिस ले फिर इसके पाउडर को अपने दातों में रगड़े अगर आप ऐसा रोजना करते है तो आपके दात मजबूत होगे! ये भी एक अच्छा फयदा है! अनार का! अगर आपके मूह के अंदर कही पर कट गया हो और वहा से खून निकल रहा हो तो आप इस पाउडर को उस कटे हुए भाग कर लगा ले खून निकला बंद हो जायेगा!


Anar Ke Fayde 5-  

एक मीठे अनार के दाने को छीलकर उसका 50ग्राम रस निकल कर किसी लोहे के बर्तन में रख कर उसको रात में खुले  छत पर रख दे! और सुबह धुप होने से पहले छत पर से उठा लाये! और उस रस (juice) में थोड़ी मात्रा में मिश्री मिलकर घोल से और इसको २०-२५ दिन लगातार पिलाये! अगर आप ऐसा करते है तो ऐसा करने से अगर आपको पीलिया है! तो वह ठीक हो जायेगा! इस सबको करने से पहले ये बात का ध्यानपूर्वक ख्याल रखे! की इस बीच में आपको किसी भी प्रकार की खटाईसे परहेज करना है! मतलब की आपको किसी भी प्रकार की कोई खटाई नहीं खाने है! जब आप खटाई का परहेज करेगे तभी ये दवा अच्छी तरह से काम करेगा! ये भी अनार के फायदे में एक बढ़िया फायदा है!


Anar Ke Fayde 6- खासी के लिए-

सबसे पहले आप 20 ग्राम  मीठे अनार के छिलके (anar ke chilke ) को नमक लाहोरी को अच्छी तरह से पिस कर उसको खूब बारीक़ कर ले फिर उसके बाद उसमे थोडा पानी मिलकर उसको 1-1 ग्राम की छोटी छोटी गोलिया बनाये! और एक दिन में 3 बार 2-2 गोलिया मुह में लेकर चुसे! इसमे भी आपको खटाई का परहेज करना है! अगर ऐसा करने है तो आपको खासी से बहुत जल्दी आराम मिलेगा! इसके साथ साथ आप 6 ग्राम अनार के छिलके (anar ke chilke ) को लेकर उसको दूध में मिलकर उबाल दे और उसको सुबह शाम पिए! ऐसा करने से आपको काली से आराम मिलता है!

Anar Ke Fayde 7- पेशाब के लिए-

सबसे पहले एक ताजे अनार के छिलके (anar ke chilke ) को लेकर उसको बारीक़ बारीक़ पिस ले फिर उसमे 4 ग्राम ताजे पानी मिलकर दिन में 2 बार खाने से पेसब से राहत मिलता है! अगर आप यही काम १० दिन तक लगातार करे तो आपको बार बार पेशाब आना बंद हो जायेगा! इसलिए इस चीज़ को करने में  आपको चावल से परहेज करना होगा! और जब तक आप इसको करे तब  तक चावल ना खाये! 

Anar Ke Fayde 8- स्वप्न दोष-

कंधारी अनार का छिलका बारीक़ बारीक़ करके 3 ग्राम सुबह शाम पानी के साथ खाने से स्वप्न दोष ठीक हो जाता है! ये काम आप लगातार १० दिन तक करे! इस काम में आप खटाई से परहेज करे! और रात में दुध का सेवन ना करे! अगर आप ये काम लगातार १० दिन तक करे तो मै यकीन के साथ कह सकता हु! की आपका स्वप्न दोष की समस्या जरुर दूर हो जाएगी!

# इनको भी पढ़े- 

वैसे तो इनके अलावा भी अनार के और भी बहुत से फायदे है! अनार एक ऐसा फल है जो हमको हर के बीमारी से बचाता है! मै उम्मीद करता हु की आपको अनार के फायदे  (anar ke fayde ) की ये पोस्ट पसंद आया होगा! और आप भी अनार  के इन फायदे उपयोग अपने दैनिक जीवन करेगे! यदि आपको अनार से होने वाले  और फायदे के बारे में पता है तो आप उसको हमारे ईमेल पर सेंड कर सकते है! हम आपके उस अनार के फायदे (anar ke fayde ) की जानकारी को इस post में ऐड करेगे! यदि आपको ये post पसंद आया हो तो इसको सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले! यदि आप इस तरह के और post पाना चाहते है! तो हमारे फेसबुक पेज को अभी लाइक करे- 

प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी  anar juice ke fayde,  anar ke chilke ke fayde, anar khane ke fayde, anar ke fayde hindi me में कोई जानकारी है! तो उस जानकारी को  मेरे पर्सनल ईमेल  Saddamhusen596@gmail पर भेज सकते है!. हम आपके उस इनफार्मेशन को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!


nimbu ke fayde in hindi | निम्बू के 10 बेहतरीन फायदे-




nimbu ke fayde
nimbu ke fayde

हम सब निम्बू (Nimbu) के बारे में जानते है! और हम सब को ये भी पता है की निम्बू हमारे  स्वास्थ के लिए कितना फायदेमंद है! निम्बू (Nimbu) का प्रयोग स्वास्थ के लिए आज से प्रयोग नहीं किया जा रहा है! बल्कि निम्बू का प्रयोग प्राचीनकाल से ही होता आ रहा है! प्राचीनकाल में ऋषि-मुनि लोग निम्बू का उपयोग ( Nimbu Ke Fayde) अवसदी के रूप में करते थे! और निम्बू के द्वारा बहुत से बीमारी का इलाज करते थे! इसके साथ साथ निम्बू का उपयोग  त्वचा  (nimbu ke fayde for skin) के लिए भी करते थे! इसमें कोई शक नहीं है की निम्बू के फायदे( Nimbu Ke Fayde ) बहुत है! और इसके अंदर बहुत से गुण छुपे है! इसलिए अगर हम सही तरीके से निम्बू का उपयोग करे तो इसके द्वारा हम बहुत से बीमारियों को ठीक कर सकते है! 

इंडिया में ज्यादातर लोग निम्बू का उपयोग सरबत में या फिर अचार बनाने के लिए करते है! लेकिन ये बात भी सच है की निम्बू का उपयोग हम सरबत और अचार के अलावा भी बहुत से जगहों पर कर के निम्बू का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठा सकते है! अगर हम निम्बू को एक साधारण भाषा में कहे तो ये एक तरह से घर का वैध है! जिस प्रकार एक वैध किसी भी बीमारियों को अपने दवा के द्वारा ठीक कर देता है! उसी प्रकार निम्बू भी एक दवा का काम करके बहुत से बीमारियों से लोगो के छुटकारा दिलाता है! आज मै आपको निम्बू के फायदे ( Nimbu Ke Fayde ) के  बारे में बताने जा रहा हु! यदि आप निम्बू के अलावा और भी फलो के फायदे के बारे में जानना चाहते है! तो अभी हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे! तो चलो देखते है की निम्बू से होने वाले कुछ बढ़िया फायदे क्या क्या है!-


 Nimbu Ke Fayde in hindi - निम्बू से होने वाले १० बेहतरीन फायदे-

 Nimbu Ke Fayde -1   पेट दर्द के लिए- 


यदि आपको बार बार पेट में दर्द होता है! तो आप नमक, अजवायन, जीरा और चीनी इन सभी चीजों को दो- दो- ग्राम लेकर उसमे थोडा निम्बू का रस निकाल कर मिला दे! और उसको सुबह और शाम खाये! अगर आप ऐसा करने है तो आपके पेट दर्द की समस्या कुछ ही दिनों के एकदम ठीक हो जायगी! ये निम्बू से होने वाले फायदे में एक बढ़िया फायदा है!


  Nimbu Ke Fayde -2 दांत दर्द के लिए-

यदि आपको दातों में दर्द होता है! तो आप थोडा लौंग ले और उसको पूरी तरह से पिस ले फिर उसके बाद उसमे निम्बू के रस को निकालकर उसको उसके साथ अच्छी तरह से मिला ले! और इस लेप को जहा पर दातों में दर्द हो रहा है! वहा लगाये! ऐसा करने पर दातों का दर्द होना ठीक हो जाता है! इसके अलावा अगर आप खाने का सोडा भी अपने दातों में मलने से दातों का दर्द अच्छा हो जाता है!


 Nimbu Ke Fayde -3 पेचिश में-

यदि आपको बार बार पेचिश हो रहा है! तो आप आधा पाव ताजा पानी ले और उसमे निम्बू के रस को मिला ले! और इस घोल को दिन में तीन बार पिए! अगर आप ऐसा करते है! तो यकीन के साथ आपकी पेचिश की समस्या दूर हो जायगी! और आपको पेचिश से बहुत फायदा मिलेगा! निम्बू के फायदे में यह एक बेस्ट फायदा है!

 Nimbu Ke Fayde -4  सिर चकराना-

यदि आपका भी हमेसा सिर चकराता है! तो इसका एक मुख्य कारण ये होता है की आपके पेट में गैस बनता है जिसकी वजह से आपका सिर चकराता है! इसका एक बढ़िया उपाय ये है की एक प्याली गर्म पानी में निम्बू के रस को निकल पर उसको 8 दिन तक पिलाये!अगर आप ऐसा करते है तो आपका सिर  चकराना बहुत ही जल्दी ठीक हो जायेगा! ये भी एक अच्छा निम्बू का  फायदा है! 

 Nimbu Ke Fayde -5 सिने पर जलन होना-

अगर आपके भी सीने पर जलन होता है! तो आप 250 ग्राम ठंडे पानी में निम्बू के रस को मिलकर पिने से सिने पर जलन होना और दिल घबराने से आराम मिलता है! बहुत से लोगो की ये शिकायत रहती है! की उनको बार बार घबराहट होता! अगर ऐसा आपके साथ भी होता है तो आप इसको फॉलो करे! मै उम्मीद करता हु! की आपके घबराहट वाली समस्या दूर हो जायगी!

 Nimbu Ke Fayde -6 खुनी बवासीर होना-

बवासीर एक ऐसी बीमारी है जो एक बार होने पर बहुत मुस्किल कर देती है! अगर आपको भी खुनी बवासीर की समस्या है! तो मै जिस चीज़ को बताने जा रहा हु उसको आजमाए इससे आपको खुनी बवासीर को ठीक होने में मदद मिलेगी! सबसे पहले एक निम्बू ले फिर उसके बाद उस निम्बू के चार भागो में काट ले और उन सभी  कटे हुए निम्बू के टुकडे पर 4 ग्राम कत्था पीसकर छिड़क दे! और सभी टुकड़े को रात में छत पर रख दे! और सुबह सभी टुकड़े को बरी बरी से चूस ले! यही काम आप लगातार 5 दिन तक करे! आपको खुनी बवासीर से जरुर राहत मिलेगी!

 Nimbu Ke Fayde -7 मोटापा दूर करने के लिए-

यदि आप अपनी वजन को लेकर चिंतित रहते है! और आपका वजन बहुत ज्यादा हो गया है तो आप 1 निम्बू को 250 ग्राम पानी में निचोड़कर हर सुबह बासी मुह पिए! अगर आप गर्मियों में ऐसा लगातार 2 महीनो तक करते है! तो आपका वजन पहले से कही ज्यादा हल्का हो जायेगा! और आपका शरीर पतला दिखने लगेगा! 

 Nimbu Ke Fayde -8 नुस्खे पेट के रोग के-

त्रिफला, अजवायन , कला नमक 50-50 ग्राम, काली मिर्च 1-1 तोला, घी ग्वार आधा किलो, सबको कूटकर छानकर घी ग्वार के छोटे छोटे टुकड़े करके मिट्टी के बर्तन में 15 दिन तक धुप में रखे! और उसके बाद उसमे सेंध नमक 30 ग्राम  मिलाये! और अब आपका दवा तैयार है! इस दवा को आप पेट के बाय दर्द, कब्ज़, भूख का ना लगना, और भी अधिक चीजों में कर सकते है! यदि आपका पेट फूलता है, जी मचलता है, कट्टा डकार आता है और पेट में गैस बनता है! इन सभी बीमारियों के लिए आप इस दवा के दो दो टुकड़े खाये! आपको इन सभी समस्याओ से छुटकारा मिल जायेगा! निम्बू के फायदे ( Nimbu Ke Fayde )में ये भी एक बढ़िया फायदा है!

 Nimbu Ke Fayde -9 मुहासे के लिए-

यदि आपको मुहासे के समस्या है तो आप एक तोला मलाई में एक चोथाई निम्बू निचोड़कर रोजाना मुह पर लगाये ऐसा करने से आपके मुह पर चमक आयेगी! और मुहासे भी ठीक हो जायेगे! इसको आप गिले मुहासे पर ना लगाये!

 Nimbu Ke Fayde -10 उल्टी के लिए- 

यदि आपको बार बार उल्टी आ रही है! तो आप आधे निम्बू को एक गिलास पानी में दो छोटे इलायची को मिलकर एक घोल बना ले और इसको हर दो घंटे पर पिलाये! ये एक बहुत ही बढ़िया नुस्खा है! उल्टी को दूर करने का ! निम्बू के फायदे ( Nimbu Ke Fayde ) ये एक अच्छा फायदा है!

तो आपने देखा की ये थी निम्बू के कुछ बढ़िया फायदे इनके अलावा भी और भी  बहुत से  निम्बू के फायदे ( Nimbu Ke Fayde ) है! निम्बू के सभी फायदे को  हम इस post में नहीं बता सकते है! मै उम्मीद करता हु की आपने निम्बू के इन १० फायदे  का आनंद उठाया होगा! और आप इन निम्बू के फायदे ( Nimbu Ke Fayde ) को अपने दैनिक जीवन में उपयोग करेगे! यदि आपको ये निम्बू के सभी फायदे पसंद आया हो! तो इन सभी निम्बू के फायदे को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करे! और अगर आप इस तरह के और भी चीजों के फायदे के बारे में जानना चाहते है! तो अभी हमारे फेसबुक पेज को तुरत लाइक करे-

प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी nimbu ke fayde in hindi, nimbu ke fayde for skin से related कोई  जानकारी  है!  जो आपके के हिसाब से लोगो के साथ शेयर करना चाहिए तो आप उस जानकारी या फिर नुस्खे को मेरे पर्सनल ईमेल  saddamhusen596@gmail पर भेज सकते है!. हम आपके उस जानकारी या नुस्खे को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!

4 Inspirational Kavita Hindi Me | 4 ज्ञानवर्धक हिंदी कविता-

inspirational-kavita-hindi-me
4 Inspirational Kavita Hindi Me


हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप आज हम आपके लिए 4 inspirational kavita hindi me मतलब की 4 ज्ञानवर्धक हिंदी कविता ले कर आये है! ये सभी कविता आपको  बहुत से चीजों के बारे में बताएगी! मै जिन सभी कविता को आपके साथ शेयर करने जा रहा हु वह self motivation poem hindi है! मतलब की ये सभी कविता आपको motivation करेगी! जिन 4 hindi kavita को आपके साथ शेयर करुगा उसमे से एक hindi kavita hindi poems on life for students मतलब की जीवन पर आधारित Hindi kavita है! जिसको पढने पर आपको बहुत सी अच्छी अच्छी बातो के बारे में पता चलेगा! तो चलो दोस्तों देखते है की वह 4 inspirational kavita hindi me कौन कौन है! 


4 Inspirational Kavita Hindi Me | 4 ज्ञानवर्धक हिंदी कविता-


1- Self Motivation Poem Hindi |  तू मत कर किसी से बैर-


कहते है! लोग से मेरे प्यारे तू
मत कर किसी से बैर-
इस जहा में तो लोग एक दुसरे के साथ!
रह मेरे प्यारे इस जहा में तू 
कुछ सीख के, कुछ कर के दिखा
कुछ कर गुजरने की तमन्ना रख 
अपने दिल में उठे अरमानो को जगा 
जो तुझे तेरे मंजिल तक पंहुचा दे-
मेरे प्यारे तू इस जग का आने वाला कल है-
किसी से ना कर तू बैर..

अगर चाहते हो मुल्क की खैर 
तो इस जहा में ना समझो किसी को बैर!
बस खुद से ये दुआ है!
की इस दुनिया में 
सभी लोगो को रखे खुश!!
या अल्लाह ! तुझ पर तो सब इंसान मुहताज है!


2- Motivational Poems in Hindi for Students |  कर्तव्य


बापू इंटर कॉलेज के स्टूडेंट , इतना रखना ध्यान 
इस कॉलेज से जाने के बाद इसका रखना मान 
ज्ञान ले जिस स्कूल की जग में नाम कमाया 
ज्ञान दे जों गुरुओ ने, सन्मार्ग दिखाया 
इस गुरुओ के प्रति तू सबका है कर्तव्य महान 
इस स्कूल से जाने के बाद इतना रखना ध्यान 
जिसने विद्या अमर दान दे, हम सब का उपकार किया 
परोपकार करके जिसने , तब उज्जवल संसार किया 
अपने उन गुरुजन पर भी हो हम सबका अभिमान 
अपने दोस्तों का भी, दोस्त करना सम्मान
नियम और कानून है इसके गोरव के मूल 
सदा इसको अपनाना भाई, मत करना जीवन में भूल 
करो प्राथना तू भगवान से, युग युग हो इसका सम्मान 
बापू इंटर कॉलेज के स्टूडेंट , इतना रखना ध्यान 


3- Hindi Poems On life for Students | भाग्य-


शाम को मै जब 
थका हारा घर आता हु!
जब मै सब कुछ 
भूल जाना चाहता हु!
पर मेरा हारा हुआ
मन मुझे चिढाता है!
और मेरी हम दर्द 
आत्मा मुझे समझाती है! 
असफलता मायूसी निराशा
के लिए सोचता हु !
क्या मेरा जन्म इसी लिए हुआ है!
उसे मै कोसता हु
सफलता, आशा , खुशी 
जो एक मेरा सपना है,
लेकिन इस स्थिथि में
वह भी बही रहा अपना 
सुबह सूरज का उगना 
एक शुभ चिन्ह होता है!
पर भी मेरा भाग्य 
उजाले में सोता है!
पर मै जब अपने 
माता पिता की तस्बीर देखता हु!
वही मुझे प्रेरणा देती है!
और मै लिखता हु
वही मुझे समझती है!
की ये रात जरुर जाएगी 
तू हारना मत 
वह सुबह जरुर आयेगी 
जरुर आयेगी!


4- Inspirational Kavita Hindi Me | बहन की वेदना 


मै भगवान की बेटी, भूतल पर आई
दुःख हुआ, बहुत बिगड़े है मेरे भाई!
राखी बाधू कैसे, ना कलाई खाली
हाथो में है हथकड़ी गुनाहों वाली!
हु तिलक भाल पर कैसे, दाग बहुत है,
छल दंभ, झूठ, बेईमानी अंकित है, 
टिके कलंक के, या राई बिखराई
दुःख हुआ बहुत..............

विग्रह के चहुदिसि है, परिवार की सत्ता,
हिंसा ओ धन की बढ़ी अपार महत्ता,
मै रही खोजती, तुलसी वाला आगन 
पर हिरोशिमा की दिखा दृश्य अपावन 
बरसा न सके जल तो क्या आग लगा दू
दुःख हुआ बहुत.....

अब सुनो बहन मौके तब ही आयेगी 
मानवता का गुण जब तुममे पायेगी 
आशा है मानोगे तुम मेरा कहना 
राखी का नेग तभी लेगी ये बहना 
जब गलत रस्ते की हो ना कमाई!
दुःख हुआ बहुत.....

अब उठो चलो घर को मन को अपनी गलती 
करुणा उदारता से निज उर को भर लो
तुम दया प्रेममय उस प्रभु के वंसज हो,
ममता की स्रोत महा चिति के अन्सज हो
क्यों पावनता तज तुम्हे दनुजता भाई!
दुःख हुआ बहुत.....


कितनी सुंदर धरा तुम्हे दिया था 
पर तुमने उस पर फसल गुस्से की रोपी 
मेरा भईया था चक्र सुदर्सन वाला 
नानक जिसने गंगा प्रेम की बहाई 
दुःख हुआ बहुत.....

इस पथ पर चल कर प्रिय तुम भी कुछ बन जावो 
बूढ़े बापू के मन को सुख पहुचाओ 
इतिहास गर्व से लिखे तुमारी गाथा 
चर्चा होते ही झुके सभी का माथा 
सब कहे पिता की तुमने टेक निभाई 
दुःख हुआ बहुत..... 


इन कविता को भी पढ़े-

Motivational Poems in Hindi-

Himalaya Motivational Hindi Poem of Sohanlal Dwivedi-

Inspirational Kavita Hindi Me-


मै उम्मीद करता हु! की आपको ये सभी inspirational kavita hindi me में पसंद आया होगा! यदि आपको ये हिंदी कविताये पसंद आया हो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले! इसके साथ साथ आप हमारे फेसबुक पेज को लाइक करके हमारे हर एक नए आर्टिकल की जानकारी सोशल मीडिया पर भी पा सकते है! इसलिए हमारे फेसबुक पेज को अभी लाइक करे! इसके साथ साथ यदि आपको इस आर्टिकल में कुछ भी गलत लगता हो तो आप हमको तुरंत बताये हम अपनी उस गलती को सुधारे की तुरंत कोशिश करेगे!

प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी कोई ऐसा inspirational kavita hindi me, self motivation poem hindi, hindi poems on life for students है! जो आपके के हिसाब से लोगो के साथ शेयर करना चाहिए तो आप उस आर्टिकल को मेरे पर्सनल ईमेल  Saddamhusen596@gmail पर भेज सकते है!. हम आपके  आर्टिकल को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!

Short Poems in Hindi | सोच लो, कल क्या बनोगे-




Short-Poems-in-Hindi
Short Poems in Hindi
नमस्कार दोस्तों आज हम आपके लिए एक ऐसी Short Poems in Hindi लेकर आये है! जिसको पढ़ने के बाद आपको ये प्रेरणा  मिलेगा की आपको जीवन में क्या बनना चाहिये! इस Short Poems in Hindi के लेखक जितेंदर प्रसाद त्रिपाठी है! और  जितेंदर प्रसाद त्रिपाठी ने इस हिंदी कविता को बहुत ही सुन्दर तरीके से प्रस्तुत किया है! लेखक का भाव इस कविता में साफ़ दिखाई देते है! जितेंदर प्रसाद त्रिपाठी बापू इंटर कॉलेज पीपीगंज गोरखपुर उत्तर प्रदेश के संस्कृत विषय के प्रवक्ता  है! जितेंदर प्रसाद त्रिपाठी ने हिंदी और संस्कृत विषय में M.A. की डिग्री हासिल की है! जितेंदर प्रसाद त्रिपाठी एक मझे हुए हिंदी कविता (Hindi Kavita) के लेखक है! और वह अपने लेखन कार्ये के लिए पुरे विद्यालय में फेमस है! मैउम्मीद करना हु की जितेंदर प्रसाद त्रिपाठी द्वारा लिखी गयी ये Short Poems in Hindi  आपको जरूर पसंद आएगी! और आप इस Hindi Kavita को पढ़ने के बाद अपने जीवन में जरूर कुछ सुधार करेंगे! तो चलो जितेंदर प्रसाद त्रिपाठी की उस हिंदी कविता (Hindi Kavita)  को पढ़ते है! 

Short Poems in Hindi | सोच लो, कल क्या बनोगे?

सोच लो, कल क्या बनोगे?
डॉक्टर, प्रोफेसर, वकील इंजीनियर 
अधिकारी- बाबू या दरबारी!
क्या घर  पर रहोगे? खेतीबारी कर सकोगे,
भैसों का गोबर  फेकोगे, 
भोर होते ही चारपाई छोड़ दोगे,
भैसों को भूसा सानकर खिलाओगे ,
या फिर डॉक्टर  इंजीनियर अधिकारी 
बनकर देश की सेवा करना पसंद करोगे,!

मोटर गाड़ी पर चढ़ना सूंदर बंगलो में रहना 
बहुरंगी फूलो वाले मखमली घास के मैदान में 
सुबह शाम टहलना पसंद करोगे!
डॉक्टर, प्रोफेसर, वकील इंजीनियर 
अधिकारी बनाने  के लिए कितना मेनहत करोगे,
सोच लो कल क्या बनोगे?

तुम्हारे यार दोस्त भी बढ़ते जा रहे है!
अपने सभी दोस्त मस्ती मारते है,
बेफिक्र होकर घूमते है,
कभी पान का बड़ा चबाते हुए
सिगरेट का गस्त लगाते हुए 
गुटका चबाते हुए ,

हां-हां, खी-खी करते है! 
कोई कॉलेज का नेता बना है,
हाथ उठाकर इंकलाब करता है,
तुम बन्दर सा उछल पड़ते हो,
सड़क पर उतर पडते हो,
और मोटर गाड़ियों 
पर पत्थर मारते हो,
जिससे जन धन और 
देश की संपत्ति की नुकसान होती है!
हम समझ नहीं पाते ऐसा तुम क्यों करते हो,

वह अपना जेब भरता है,
और तुमको बर्बादी के 
कगार पर खड़ा करता है,
क्या ऐसी यार दोस्त का साथ दोगे ,
अगर ऐसा करते हो तो,
सोच लोग तुम कल क्या बनोगे,
आज सुनहरे समय को 
बहकावे में आकर ब्यर्थ खो दे रहे हो,
यार दोस्तों के पीछे 
जिन्दगी धो  दे रहे हो,

माता, पिता ,टीचर 
सबसे तुम अकड़ कर बोलते हो,
जो तुमरे भले का बात करता है !
उससे ही तुम लड़ जाते हो,
अगर ऐसा करोगे तो सोच लोग 
तुम कल क्या बनोगे,

सही समय है-
कुछ करने का अगर आप नहीं
करोगे तब तुम क्या कर पाओगे,
और जीवन में तुम क्या बन पाओगे 
डॉक्टर, प्रोफेसर, वकील
 इंजीनियर अधिकारी- बाबू  
कुछ भी ना बन पाओगे 
माता पिता के बुढ़ापे का सहारा ना बनोगे,
कपड़े और दवा ना दे सकोगे, 
घरवाली को चटक मटक  साड़ी नहीं दोगे,
बच्चे पापा कह कर आएंगे और अपने मांग पर अड़ जाएंगे,
तुम मुंह निचे करके बैठे रहोगे,
सभी तुमको ताना मारेगे,

अब भी समय है! संभल जाओ 
और अपने जीवन को बनाओ ,
माता पिता और गुरु सबका  
तुम पर भरोसा  है! 
अगर अपने जीवन के प्रति 
आज नहीं सजग होगे 
तो सोच लो तुम,
कल क्या बनोगे!....


यदि आपने ये Hindi Kavita  पूरा पढ़ा होगा तो आपने देखा होगा की लेखक ने अपने विचार को एक Hindi Kavita के माध्यम से कैसे प्रकट किया है! इस short poems in hindi में लेखक ने "कल तुम क्या बनोगे" शीर्षक  का अनुवाद  बहुत ही सरल तरीके से किया है! आपको भी इस  हिंदी कविता (Hindi Kavita) से कुछ प्रेरणा लेना चाहिये और अपने जीवन में आने वाले कल के बारे में सोचना चाहिये! इस short poems in hindi को आपके साथ शेयर करने का हमारा मकसद आपके जीवन के महत्व को बताना था! जीवन बहुत छोटा है इसलिए आज से ही तय कर लो की कल तुम क्या बनोगे!

यदि आपको ये short poems in hindi अच्छा लगा हो तो इस हिंदी कविता (Hindi Kavita)  को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करे! अगर आप इस तरह के और बेहतरीन short poems in hindi  पाना चाहते है! तो आप हमारा फेसबुक पेज को अभी लाइक-

प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी कोई ऐसा short poems in hindi , हिंदी कविता (Hindi Kavita), या फिर कोई famous hindi poems है! जो आपके के हिसाब से लोगो के साथ शेयर करना चाहिए तो आप उस  सभी को मेरे पर्सनल ईमेल  Saddamhusen596@gmail.com पर भेज सकते है!. हम आपके उस  short poems in hindi  जैसे सभी आर्टिकल को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!