Saddam

Essay on Library in Hindi- पुस्तकालय पर निबंध

 Essay on Library in Hindi

हेलो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में Essay on Library  in Hindi  मतलब की पुस्तकालय पर निबंध को पढ़ेगें! हमारे जीवन में पुस्तकालय का बहुत महत्व होता है! पुस्तकालय हमारे स्टूडेंट लाइफ में बहुत मदद करता है! एक पुस्तकालय एक ज्ञान का भण्डार होता है! इस आर्टिकल में हम पुस्तकालय के महत्व को जानेगें! मै उम्मीद करता हूँ की आपको Library Essay in Hindi पसंद आयेगा! यदि Library Essay in Hindi आपके लिए थोडा भी उपयोगी हो तो आप इसको अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले-

 Essay on Library in Hindi- पुस्तकालय पर निबंध 

जब हम स्टूडेंट होते है तब हम अपने स्कूल में अपने क्लास में जितना समय बिताते है उतना ही समय हम अपने Library में भी बिताते है! Library में जाकर हम तरह तरह के book को पढ़कर उसके ज्ञान को अपने अंदर ग्रहण करते है! हमको अपने Library में हर एक तरह की book मिल जाती है! कई ऐसे लोग भी होते है जिनके पास अपनी book खरीदने के लिए पैसे नहीं होते है! ऐसे कंडीशन Library उनका सहायता करता है! ज्यादातर स्कूल में Library होता है! Library में आपको सभी तरह की पुस्तके मिल जाती है! अगर हम एक Library को ज्ञान का भण्डार कहे तो इसमें कोई गलत बात नहीं होगा क्योकि वास्ताव में Library ज्ञान का भंडार होता है! Library उन गरीब लडको के लिए भी बहुत उपयोगी होता है जिनके पास किताबे खरीदने के लिए पैसे नहीं होते है! इसलिए हम कह सकते है की Library हमारे स्टूडेंट जीवन में बहुत उपयोगी होता है! 

अगर आप ध्यान से पुस्तकालय शब्द को देखे तो आप पायेगें की पुस्तकालय में दो शब्द है! पुस्तक + आलय जिसका मतलब होता है! एक ऐसा जगह जहाँ पर सभी तरह के किताबे रखी जाती है! Library उपस्थित हर एक किताबो का उपयोग लोग पढने के लिए करते है! जहाँ पर हर तरह की किताबे मिलती है उसको ही पुस्तकालय कहते है! पुस्तकालय में जाकर लोग अपनी रूचि के अनुसार किसी भी पुस्तक को पढ़ते है! पुस्तकालय में कोई पुस्तक को पढ़ते समय आपके पढाई को बाधित करने वाला कोई नहीं होता है! पुस्तकालय एक ऐसा जगह होता है जहाँ पर जाकर आप एकांत में अपने रूचि के अनुसार कोई किताब सच्चे मन से पढ़ सके! 

पुस्तकालय कई 2 तरह के होते है! जिन लोगो को तरह तरह के अलग अलग किताबे पढना अच्छा लगता है! वह अपने घर पर ही एक ऐसे पुस्तकालय का निर्माण करते है! जिसमे उनकी रूचि की हर एक किताबे वहां पर रहती है! इस तरह के पुस्तकालय को व्यक्तिगत पुस्तकालय कहते है! इसके साथ साथ स्कूल में जो पुस्तकालय होते उसमे हर स्टूडेंट को ध्यान में रखकर बनाया जाता है! जो पुस्तकालय स्कूल और कॉलेज के अंदर आते है वह दुसरे तरह के पुस्तकालय होते है! जो पुस्तकालय स्कूल और कॉलेज में पाया जाता उसका उपयोग केवल उस स्कूल अथवा कॉलेज के स्टूडेंट अथवा टीचर ही कर सकते है! इन इन सभी के अलावा कुछ ऐसे भी पुस्तकालय होते है जहाँ हर कोई जाकर थोड़े पैसे देकर उस पुस्तकालय में उपस्थित हर एक book को पढ़ सकते है! इस तरह की पुस्तकालय को आम लोगो को ध्यान में रखकर बनाया जाता है! 

पुस्तक ही महत्व की सच्ची दोस्त होती है! पुस्तके मानव को कभी भी धोखा नहीं देती है! हमारे सभी प्रचीनकाल के ग्रंथो में पुस्तक को सरस्वती देवी का दर्जा दिया गया है! हर एक पुस्तक ज्ञान का भंडार होता है! हम लोग उस ज्ञान के भंडार को पुस्तकालय का उपयोग करके ग्रहण कर सकते है! इस पूरी दुनिया में इतनी ज्यादा किताबे है जिसको हर हर एक आदमी नहीं खरीद सकता है! इसी कारण पुस्तकालय का निर्माण किया जाता है ताकि सभी लोगो को हर एक तरह की पुस्तके एक ही जगह पर मिल जाये! पुस्तकालय एक ऐसा जगह होता है जहाँ पर आप जाकर अपनी पसंद की हर एक पुस्तक को शांति से पढ़ सकते है! 

दुसरे देशो के मुकाबले भारत में पुस्तकालय की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है! दुसरे देशो में लोग पुस्तकालय में जाकर बहुत ही शांति से पुस्तक पढ़कर बिना उस पुस्तक को नुकसान पहुचाये चले आते है लेकिन भारत के पुस्तकालय में लोग पुस्तक को पढने के बाद उसको कई तरह से नुकसान पहुचाते है! जो हमारे लिए बढ़िया नहीं है! पुस्तकालय में केवल किताबे ही नहीं पढ़ी जाती है बल्कि पुस्तकालय में लोग समाचार पत्र अथवा पत्र-पत्रिकाएं भी पढ़ते है! हर एक पुस्तकालय में बहुत शांति होती है! वहां पर आपके पठन पाठन में बिघ्न डालने वाला कोई नहीं होता है! जब हम शांति के ,माहौल में किसी चीज़ का पठन पाठन करते है! तब हम सभी लोगो को बहुत ही बढ़िया फीलिंग आती है! 

कई ऐसे लोग भी होते है जो पुस्तकालय में केवल अपना समय पास करने के लिए जाते है! आपको पुस्तकालय का उपयोग केवल समय पास करने के लिए नहीं करना चाहिये बल्कि पुस्तकालय का उपयोग अपने ज्ञान को और अधिक करने के लिए करना चाहिये! जब भी आप किसी पुस्तकालय में जाये तब आप वहां पर किसी भी बढ़िया किताबे का पठन पाठन जरुर करे! कई पुस्तकालय में इस तरह का भी नियम होता है की हम पुस्तक को अपने घर पर लाकर पढ़कर उसको पुन: वापस कर सकते है! पुस्तकालय में इस तरह का नियम हम सभी के लिए बहुत ही उपयोगी होता है! हम सभी इस तरह के नियम का सही तरीके से पालन करके पुस्तकालय के द्वारा ली गयी पुस्तक को सही समय पर वापस कर देना चाहिये!    

जब हमको पुस्तको के महत्व के बारे में पता होगा तभी हम हमको पुस्कालय की उपयोगिता पता चलेगी! पुस्तकालय ज्ञान के साथ साथ मनोरंजन का भी बढ़िया साधन है! पुस्तकालय में आपको कई सारे मनोरंजन के लिए भी किताबे मिल जाएगी! पुस्तकालय का उपयोग हमको ज्ञान और मनोरंजन दोनों के लिए करना चाहिये! पुस्तकालय में कई सारे आपको ऐसी भी किताबे मिलेगी जिसका एक आम आदमी नहीं खरीद सकता है! जिस किताब को एक आम आदमी नहीं खरीद सकता है फिर भी पुस्तकालय के द्वारा आम आदमी उस किताब को पढ़ सकता है! इस तरह से और भी बहुत महत्व है पुस्तकालय का हमारे जीवन में जिसका हम अंदाजा नहीं लगा सकते है! 

मै उम्मीद करता हु की आपको  Essay on Library  in Hindi  पसंद आया होगा! यदि आपको ये  Essay on Library  in Hindi Language पसंद आया है तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले!

प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी   Library Essay in Hindi से related कोई इनफार्मेशन हो तो आप उस  इनफार्मेशन को मेरे पर्सनल ईमेल  [email protected] पर भेज सकते है!. हम आपके उस इनफार्मेशन को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!

आपके पास  Essay on Library  in Hindi  में और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें email करके बताये हम इसको update करते रहेंगे! अगर आपको  Essay on Library  in Hindi  अच्छा लगे तो इसको  facebook पर share कीजिये.