Saddam

Essay On indian Culture in Hindi- भारतीय संस्कृति पर निबंध

Essay-On-indian-Culture-in-Hindi

हेलो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में Essay On indian Culture in Hindi मतलब की भारतीय संस्कृति पर निबंध को पढ़ेगें! भारत दुनिया का एक ऐसा देश है जो अपनी संस्कृति और सभ्यता के कारण पूरी दुनिया में जाना जाता है! इसके साथ साथ भारत एक ऐसा देश भी है जहाँ पर हर धर्म और जाति के लोग बिना किसी भेद भाव के रहते है! इस दुनिया में भारत को उसकी संस्कृति और सभ्यता के लिए एक अलग देश के रूप में देखा जाता है! हमारे भारत देश में बहुत ही तरह तरह के संस्कृति और सभ्यता का उदय हुआ है! आज हम भारतीय संस्कृति को एक निबंध के रूप में पढेंगें! मुझे उम्मीद है की आपको  indian Culture Essay in Hindi पसंद आयेगा! यदि आपको  indian Culture Essay in Hindi Language पसंद आये तो इसको अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले! 


Essay On indian Culture in Hindi- भारतीय संस्कृति पर निबंध

नाना प्रकार की धार्मिक साधनाओं , कलात्मक , प्रयत्नों , सेवा भक्ति और योगमूलक अनुभूतियो से मानव उस महान सत्य के ब्यापक एवं परिपूर्ण रूप को धीरे धीरे करता जा रहा है! जिसे हम संस्कृति शब्द द्वारा व्यक्त करते है! यह शब्द बहुत ही अधिक प्रचलित है! हर एक ब्यक्ति अपनी रूचि और संस्कार के अनुसार इसका अर्थ समझ लेता है! क्योकि संस्कृति शब्द संस्कृति बिलकुल स्पस्ट है! हम ऐसा भी नहीं कह सकते है क्योकि हर एक मानव जानता है की उसकी साधनाये ही संस्कृति है! संस्कृति सही अर्थ में विकाश की धारा है!

संस्कृति और सभ्यता में बहुत ही गहरा सम्बन्ध है! जिस जाति की संस्कृति उच्च स्तर की होती है वह जाति सभ्य कहलाती है! और मानव सुसंस्कृत माने जाते है! दुसरे शब्दों में कहा जा सकता है की जो सुसंस्कृत है वही सभ्य है और जो सभ्य है वही सुसंस्कृत है! इन दोनों में बहुतस भेद है! हर एक जाति की अपनी अपनी अलग अलग संस्कृति होती है! यह संस्कृति अच्छी या फिर बुरी कुछ भी हो सकती है! लेकिन सभ्यता हमेशा अच्छी ही होती है! कहने का मतलब ये है की सभ्यता के भीतर बहने वाले धारा को ही संस्कृति कहते है! 


संस्कृति का विकाश देश की प्राकृतिक दशा , उपज और जलवायु पर भी निर्भर करता है! हमारे रहन सहन एवं आचार विचार सब पर प्रकृति का प्रभाव पड़ता है! उच्च स्तर की संस्कृति निम्न स्तर की संस्कृति को प्रभावित करती है! लेकिन उसे आत्मसात नहीं कर पाती! उदाहरण के लिए आर्य जाति की संस्कृति से हुण, कुषाण एवं शक आदि अन्य जातियाँ बहुत प्रभावित हुई! इन सभी ने भारतीय संस्कृति की उत्तम बातो की ग्रहण किया था!  


संस्कृति और धर्म में अंतर है! धर्म ब्यक्तिगत होता है और ये आत्मा और परमात्मा के सम्बन्ध का माध्यम है! संस्कृति समाज से सम्बंधित होने के कारण आपसी ब्यवहार माँ माध्यम है! संस्कृति धर्म से प्रेरणा लेती है! और उसे प्रभावित करती है! यदि धर्म ये सरोवर है तो संस्कृति उसमे कमल है!


भारतीय संस्कृति आत्मा को मुख्य और शरीर को गौण मानती है!शरीर और मन की को साफ रखना भी जरुरी है! जब तक मानव का मन बाहर से और अंदर से साफ़ नहीं होगा तब तक वह गलत चीज़ को भी सही मानेगा! भारतीय संस्कृति का विकास धर्म का आधार लेकर हुआ है तभी उसमे दृढ़ता है! 

परम्परागत भारतीय विश्वासों के अनुसार मनुष्य देव ऋण, ऋषी ऋण, तथा पिता ऋण लेकर संसार में आता है! अधिकाशं लोगो को ये धारणा है की बिना इन ऋण को चुकाये मानव साधना का अधिकारी नहीं बन सकता! भारतीय मनीषियों ने इन ऋण को चुकाने का भी उपाय बताया है! इसका उपाय ये है मानव इन ऋण को ऋण के रूप में ग्रहण करे और अपने पूर्वजो के परम्परा को आगे बढ़ाये! जल बरसाने वाला मेघ , अन्न उपजाने वाली धरती और प्रकाश देने वाला सूर्य हमे अनायास प्राप्त हो गए है! इनको देवता माना गया है! इनके ऋण से मुक्त होने के लिए हमको बाट कर खाना चाहिये! ऋषीयो के ऋण से मुक्त होने के लिए हम ज्ञान की धारा ही हिफाजत करे! और उसको आगे बढ़ाये!


भारतीय संस्कृति में कर्तव्य , संचय , बैराग आदि पर विशेष बल दिया गया है! हमारे पतन का केवल एक ही कारण दृष्टिगोचर होता है! वह है अपने उच्च आदर्शो की बिस्मुती! भारतीय संस्कृति  ब्यक्ति को ब्यक्तित्व देकर उसे महान कार्य करने की प्रेरणा देती है! और उन्ही कार्यो द्वारा हम अपनी संस्कृति की धारा को महान बनाये रख सकते है! 



मै उम्मीद करता हु की आपको Essay On indian Culture in Hindi पसंद आया होगा! यदि आपको ये Essay On indian Culture in Hindi Language पसंद आया है तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले!


प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी  Essay On indian Culture in Hindi से related कोई इनफार्मेशन हो तो आप उस  इनफार्मेशन को मेरे पर्सनल ईमेल  [email protected] पर भेज सकते है!. हम आपके उस इनफार्मेशन को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!


आपके पास indian Culture Essay in Hindi में और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें email करके बताये हम इसको update रहेगें! यदि  indian Culture Essay in Hindi Language पसंद आये तो इसको फेसबुक पर शेयर जरुर करे!