Saddam

Essay on AIDS in Hindi- एड्स पर निबंध


AIDS-in-Hindi

 Essay on AIDS in Hindi- एड्स पर निबंध

हेलो दोस्तों आज हम   Aids Information or Aids Essay in Hindi  मतलब की एड्स पर हिंदी निबंध पढेंगे!चिकित्सा के छेत्र में जहाँ पुरानी बीमारियों के इलाज के लिए नये नए तरीके खोजे जा रहे है! आज के इस बदलते जबाने में बहुत सी नयी नयी बीमारियों का उदय भी हो रहा है! एक जबान था जब बड़ी से बड़ी बीमारियो को जड़ी बूटी से ठीक कर दिया जाता है! आज हमारे डॉक्टर हर एक बीमारी का इलाज खोज लेते है! लेकिन ये बात बहुत सही है की हमारे आज के डॉक्टर पुराने जबाने के दवायों को नये तरीके से इस्तमाल करने की कोशिश करते है! एक तरह जहाँ हमारे आज के डॉक्टर इस चीज़ का दावा करते है! समाज में होने वाली हर एक बीमारी का उनके पास एक सही इलाज है लेकिन फिर भी हमारे समाज में कई ऐसी बीमारिया है जिसका इलाज हमारे उन कबीर डॉक्टर के पास नहीं है! हमारे समाज में कई ऐसी बिमारिया है जिसका इलाज अभी तक नहीं मिल पाया है!

Aids in hindi-

आज के इस नए जबाने में चिकित्सा के छेत्र में के बहुत ही जटिल और बेइलाज बीमारी है जिसका नाम AIDS है!  AIDS इस पुरे दुनिया की एक बहुत जटिल और बेइलाज बीमारी है जिसका इलाज अभी तक नहीं बन पाया है! दुनिया के लोग  AIDS का इलाज खोजने में दिन रात एक कर दे रहे है लेकिन फिर भी अभी तक इसका कोई निश्चित इलाज नहीं मिल पाया है! वेसे तो AIDS की शुरुवात भारत से नहीं हुई है! लेकिन फिर भी AIDS की बीमारी भारत में आया गया है! और भारत में बहुत से ऐसे लोग है! जिनको AIDS की बीमारी है! AIDS की बीमारी की सबसे पहली शुरुवात अमरीका से हुई! AIDS की बीमारी अमरीका के एक कुत्ते में सबसे पहली बार देखी गयी थी! कुत्ते से धीरे धीरे ये बीमारी लोगो में फ़ैल गयी! AIDS की बीमारी सबसे ज्यादा दो लोगो के योन संबध बनाने से होता है! अगर किसी को AIDS की बीमारी है और अगर कोई दूसरा उसके साथ योन संबध बनाता है! तो ये बीमारी उसको भी हो जाएगी! ये बीमारी पूरी दुनिया में  योन संबध के कारण सबसे ज्यादा फ़ैल रही है! अभी तक किसी भी देश के लोग के  AIDS की बीमारी का कोई सही इलाज नहीं पता लगा पाये है!

AIDS की बीमारी है! को समाज की एक संक्रमण रोग माना जाता है! जब कभी पर भी AIDS की बीमारी की चर्चा होती है तो इसके साथ HIV की भी चर्चा होती है! क्योकि HIV वायरस के कारण ही AIDS की बीमारी होती है! AIDS की बीमारी में पाये जाने वाले वायरस एक बहुत ही भयंकर वायरस होते है! अगर ये वायरस किसी स्वस्थ मनुष्य के शरीर में चले जाते है! तो इसका असर तुरन तुरंत नहीं दिखाई देता है! बल्कि इसका असर 2-3 सालो बाद दिखाई देता है! AIDS की बीमारी ही ऐसी बीमारी है जो किसी को होने पर तुरंत अपना प्रभाव नहीं दिखाई देती है! जब इसका प्रभाव आपके सरीर पर पूरी तरह से हो जाता है तब आपके शरीर के अंदर की हर एक छमता कम हो जाती है! AIDS की बीमारी मनुष्य के अंदर रोग प्रतिरोधक शक्ति बनाये रखने वाली कोसिकाओ धीरे धीरे कम करने लगती है! रोग प्रतिरोधक शक्ति बनाये रखने वाली कोसिकाए जब धीरे धीरे कम होने लगती है तब आपका शरीर की हर एक चीज़ काम करना बंद होने लगता है! इस बीमारी का अभी तक कोई इलाज नहीं है! हमारे डॉक्टर इस बीमारी का इलाज खोजने की पूरी कोशिश कर रहे है!

Aids in hindi-

अगर बात करे की आखिर ये AIDS की बीमारी किन किन कारण की वजह से फैलता है तो मै आपको यहाँ पर बता देना चाहता हु की AIDS की बीमारी फैलने के 3 मुख्य कारण है! जिनमे से पहला कारण ये है की अगर अगर हम AIDS की बीमारी से ग्रसित रोगी के रक्त या उसके इंजेक्शन का उपयोग किसी दुसरे के साथ करते है! तो इस कारण दुसरे ब्यक्ति को भी AIDS की बीमारी हो जाती है! दूसरा कारण ये है की अगर हम AIDS की बीमारी से ग्रसित रोगी केसाथ यौन सम्बन्ध बनाते है! तब भी ये बीमारी दुसरे ब्यक्ति को हो जाती है! तीसरा कारण जो है AIDS की बीमारी की बीमारी होने का वह ये कारण है की अगर किसी को AIDS की बीमारी है और किसी बच्चे को जनम देती है! तो उस बच्चे को भी AIDS की बीमारी होने का पूरा chance होता है!ये तीनो सबसे मुख्य कारण है जिसके द्वारा AIDS की बीमारी दुसरे को हो सकती है!

Aids in hindi-

AIDS एक बहुत जटिल बीमारी है! और जिसको भी AIDS की बीमारी हो गयी उसका पूरा जीवन बेकार हो जायेगा! AIDS की बीमारी से  बचने का सिर्फ और सिर्फ एक ही तरीका है! ऊपर बताये गए तीनो कारणों पर ध्यान देना होगा! बहुत से लोग ये सोचते है! AIDS के रोगी के साथ बात करने से उसके साथ खाना खाने से भी AIDS की बीमारी हो जाती है! अगर आप ऐसा सोचते है तो ये गलत है क्योकि ऐसा करने से आपको AIDS की बीमारी नहीं होती  है! AIDS की बीमारी एक लाइलाज बीमारी है! और हम सब को ये कोशिश करना चाहिये की AIDS की बीमारी से जितना हो सके अपने आपको और इस समाज को बचाये! किसी अनजान के साथ यौन सम्बन्ध ना बनाये! मै उम्मीद करता हु की आप भी AIDS की बीमारी से सचेत रहेगे! और हमारे समाज में AIDS की बीमारी को फैलने से रोकने में अपना पूरा योगदान देंगे!

मै उम्मीद करता हु की आपको ये Essay on AIDS in Hindi पसंद आया होगा! यदि आपको ये  hiv aids in hindi पसंद आया है तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले-

प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी कोई ऐसा हिंदी आर्टिकल,  हिंदी इनफार्मेशन या फिर aids in hindi language के बारे में कोई इनफार्मेशन है तो  आप उस आर्टिकल या फिर इनफार्मेशन को मेरे पर्सनल ईमेल  [email protected] पर भेज सकते है!. हम आपके उस इनफार्मेशन या आर्टिकल को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!


आपके पास  hiv aids in hindi  मैं और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें email करके बताये हम इसको update करते रहेंगे! अगर आपको aids in hindi अच्छा लगे तो इसको  facebook पर share कीजिये.

इस website पर regular visit करते रहे और और पायें More Essay, Paragraph, Nibandh In Hindi. For Any Class Students, Also More New Article