Saddam

Essay on Dowry System in Hindi- दहेज प्रथा पर निबंध


Essay-on-Dowry-System

Essay on Dowry System in Hindi- दहेज प्रथा पर निबंध

हेलो दोस्तों आज हम Essay on Dowry System in hindi मतलब की dahej pratha पर निबन्ध पढेंगे! इसके साथ साथ dowry problem essay in hindi मतलब की दहेज़ प्रथा के कारण को भी जानेंगे! दहेज़ प्रथा भारत के समाज की एक बहुत ही प्रमुख्य सामाजिक समस्या है ये सामाजिक समस्या ने भारत के समाज को बहुत ही दुःख दिया है! प्राचीन काल में दहेज़ का मतलब कुछ और ही होता है! उस समय ये एक भेट के रूप वर परिवार को बिना मांगे कन्या परिवार की तरफ से दिया जाता था! अगर आज के समय में दहेज़ की बात की जाये तो कन्या परिवार की तरफ से वर परिवार को मुह माँगा दाम देना होता है! इस प्रकार हम कह सकते है की विवाह से पहले तय की गयी लेन देंने को आज के समय में दहेज़ बोला जाता है! और विवाह के बाद बिदाई के समय में अपनी इच्छा अनुसार दिए गए चीज़ को भेट कहते है! 

Dahej Pratha !  Essay on Dowry System in Hindi-1 

प्राचीन काल में भेट प्रथा थी ना की dahej pratha! हमारे प्राचीन ग्रन्थ में भी इसका पूरा पूरा सबूत मिलता है की प्राचीन काल में भेट प्रथा थी ना की दहेज़ प्रथा लेकिन आज उसका उल्टा काम होता है! और के समय में भेट प्रथा के साथ साथ बहुत ही बड़े पैमाने पर dahej pratha भी हैं! अगर हम प्राचीन काल की बात करे तो पार्वती की विवाह के समय उनके पिता ने उसको बहुत सारा भेट दिया था! इसके साथ साथ मोहम्मंद साहब के अपनी बेटी की विवाह में भेट के रूप में में भी कई चीज़े दी थी! इस प्रकार हम कह सकते है! की पहले के जबाने में लोग अपनी मन के अनुसार भेट देते थे! लेकिन आज के समय में भेट को सब देते है! लेकिन भेट के साथ साथ मुह माँगा दहेज़ भी देना पड़ता है! यदि आज के समय में कोई दहेज़ ना दे तो उसकी बेटी का विवाह इस समाज में होना बहुत ही कठिन बात है! इसलिए इस समाज में हर एक आदमी मज़बूरी में आकर दहेज़ दे ही देता है! इंडिया में dahej pratha  एक बहुत ही बड़ी सामाजिक समस्या है! और इंडिया ने अभी तक इस बड़ी सामाजिक समस्या का हल नहीं पा पाया है! 

वर्तमान समय में दहेज़ के ब्यापार की तरह से हो गया है! और ऐसा भी समय आ गया है! की जिस कन्या के पिता के पास पर्याप्त धन नहीं है! उस कन्या का विवाह एक योग्य लड़के से नहीं हो पता है! क्योकि  योग्य लड़के का पिता कन्या के पिता से मुह माँगा धन मांगता है! दहेज़ के नाम पर जिसको कन्या का पीटना नहीं दे पता है! दहेज़ मांगने के साथ साथ योग्य लड़के का पिता कन्या के पिता के सामने तरह तरह की शर्ते भी रखता है! आज दहेज़ के नाम पर एक ऐसी स्थिथि पैदा हो गयी है! की लोग कन्या को एक सामान समझने है! और लड़के के पिता को एक ब्यापारी समझते है! अगर कोई कन्या गरीब घर में पैदा हो जाती है! तो उसको एक योग्य लड़का बहुत ही मुस्किल से मिलता है! इसी कारण आज भारत में लड़की पैदा होने के बाद ही उसको मार दिया जाता है! अगर किसी के घर पर कोई लड़की पैदा होती है! तो वह परिवार बहुत ही दुखी होता है! 


Dahej Pratha ! Essay on Dowry System in Hindi-2  


आज के समय में हर प्रकार के लड़के का दहेज़ तय होता है! ठीक उसी प्रकार जिस प्रकार राशन की दुकान पर सभी चीजों का मूल्य तय होता है! अब विवाह में लडकियों के गुण नहीं बल्कि उसके पिता द्वारा दिए जाने वाले दान और दहेज़ को देखा जाता है! आज के समय में जब कोई पिता अपने लड़की का विवाह करता है! तो वह अपना सब कुछ बेचकर लड़के वालो को दहेज देने के लिए धन का इंतजाम करता है! बहुत से पिता तो ऐसे भी होते है जो बहुत ही गरीब होते है! और वह दहेज नहीं दे पाते है! इस कारण उनकी लड़की पूरी जिन्दगी अविवाहित रहती है! आज भारत के समाज में बहुत से ऐसे भी लोग है जो दहेज ना दे पाने के कारण अपनी बेटी का विवाह अपनी के दुगुने आयु वाले आदमी के साथ मज़बूरी में करना पड़ता है! इस आज हम कह सकते है! दहेज़ प्रथा होने के कारण आज के समय में किसी कन्या का पिता होना भी एक कष्टकारक है! 
अगर कोई पिता अपना सब कुछ बेचकर लड़की की शादी कर भी देता है! तो शादी के बाद भी उसका दहेज से पीछा नहीं छुटता है! लड़के के घर वाले लड़की को तरह तरह की दुःख देते है! और लड़की से बोलते है की वह अपने घर से जाकर और भी धन लाये! इस कारण लड़की को लड़के के घर में धन के कारण तरह तरह का कष्ट दिया जाता है! और बहुत से कन्या इससे परेशान होकर अपने आपको मार लेती है! इस प्रकार हम कह सकते है! आज के समय में dahej pratha एक बहुत ही बड़ा समस्या है! हमारे समाज में जिसका हल हम नहीं खोज पा रहे है! 

आप रोज समाचार और न्यूज़पेपर में इस तरह के बहुत से घटना को देखते होंगे! आज हमारे सामने ये  सावल उठता है! की आखिर dahej pratha का मुख्य कारण क्या है! दहेज प्रथा का मुख्य  ये है की आज हमारे देश में बहुत से लोग ऐसे भी है जो अब भी पुराने जबाने में जी रहे है! और उनको आज बदलते जबाने के बारे में कोई जानकारी है! और dahej pratha का के कारण ये भी है लड़की पढ़ी लिखी नहीं होती है! दहेज प्रथा वही पर होता है! जहा की लडकिय पढ़ी लिखी नहीं होती है! इसलिए दहेज प्रथा से बचने के के लिए सभी लड़के और लड़कीयो को पढना लिखना बहुत जरुरी है! अगर हमको हमारे समाज से से दहेज प्रथा को निकल फेकना होगा! और इसके लिए रेडियो, टेलीविज़न, न्यूज़पेपर , और समाजसेवी लोगो को दहेज प्रथा का जमकर बिरोध करना होगा! समाजसेवी और लेखको आदि की इस विषय पर काम करना होगा! इसके साथ साथ भारत सरकार को दहेज प्रथा पर कानून भी बनाना चाहिये! और जो दहेज लेते पकड़ा जाये उसको कड़ी से कड़ी सजा भी दी जानी चाहिये! इस सामजिक समस्या का हल हमसब मिलकर ही निकल सकते है! युवक और युवतियों को भी इस समस्या के खिलाफ अपना योगदान देना चाहिये तभी इस समस्या का समाधान हो पायेगा! 


Dahej Pratha !  Essay on Dowry System in Hindi-3 


dahej pratha के बहुत ही बड़ी सामाजिक समस्या है भारत की और अगर इसको रोका नहीं गया तो ये आगे चल कर और भी बड़ी समस्या बन जायेगा! दहेज प्रथा के कारण बहुत से परिवार को जीवन नरक से भी बेकार हो गया है! अगर हम सब मिल कर दहेज प्रथा के खिलाफ आवाज उठाते है! तो इसका प्रभाव जरुर कम होगा! तो चलो दोस्तों आज हम एक संकल्प लेते है! की अगर हम अपने समाज में कही पर भी दहेज़ प्रथा होते हुए देखेगे तो उसका जन्मकर बिरोध करेगे और दहेज लेने वाले की खिलाफ पुलिस में भी शिकायत करेगे! अगर आप ऐसा करते है तो आपके द्वारा किया गया ये काम एक परिवार की जिन्दगी बचा सकता है! दहेज प्रथा को रोकने के लिए हम सब को मिलकर इसका कोई समाधान करना होगा! और साथ साथ आज के इस नए जबाने में लड़के और लडकियों को भी दहेज प्रथा को रोकने में अपना पूरा योगदान देना होगा! अगर हम सब मिलकर इसको रोकने की कोशिश करे तो हम इसको रोक सकते है! तो चलो आज हम ये संफल्प लेते है! की हमको dahej pratha रोकने में अपना पूरा योगदान देंगे! 

आज के इस बदलते जबाने में हम  dahej prathaको ignor नहीं कर सकते है! ये समाज और ये देश तभी आगे बढ़ेगा जब हम सब मिलकर इसको आगे बढाने में अपना योगदान देंगे! दुसरे देश हमसे आगे क्यों है क्योकि उनके देश में दहेज प्रथा जैसे नाम की कोई चीज़ नहीं है! अगर इंडिया की बात करे तो इंडिया में शायद ही कोई ऐसा परिवार होगा जो अपने लड़के के शादी में दहेज़ ना लेता है! ये सिलसिला यही तक नहीं खत्म होता है! बल्कि ये शादी के बाद भी चलता रहता है! शादी के बाद लड़का और उसके परिवार वाले लड़की के परिवार के ऊपर और दहेज़ देने के लिए जोर डालते है! यदि लड़की के परिवार वाले दहेज़ नहीं दे पाते है तब उनका गुस्सा लड़की के ऊपर निकलता है! और लड़की के ऊपर तरह तरह के अत्याचार किया जाता है! यदि आपके आस पास किसी के साथ दहेज़ को लेकर अत्याचार किया जा रहा हो तो आप उसकी सुचना तुरंत पुलिस को दे! dahej pratha आज के समय में के बहुत बड़ा अपराध है! यदि कोई दहेज लेते हुए पकड़ा जाता है! तो उसके ऊपर कठोर से कठोर से action लिया जायेगा! और दहेज़ लेने के जुर्म में जेल की हवा भी खानी पड़ेगी! इसलिए ना दहेज़ ले और ना ही किसी को दहेज़ लेने दे! 


मै उम्मीद करता हु की आपको ये Essay on Dowry System in Hindi पसंद आया होगा! यदि आपको ये dowry problem essay in hindi पसंद आया है तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले-

प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी कोई ऐसा हिंदी आर्टिकल,  हिंदी इनफार्मेशन या फिर Essay on Dowry System in Hindi के बारे में कोई इनफार्मेशन है तो  आप उस आर्टिकल या फिर इनफार्मेशन को मेरे पर्सनल ईमेल  [email protected] पर भेज सकते है!. हम आपके उस इनफार्मेशन या आर्टिकल को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!