Saddam

Essay on Television in Hindi | टेलीविजन पर निबंध

 
 Essay-on-Television-in-Hindi

हेलो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में Essay on Television in Hindi मतलब की टेलीविजन पर निबंध पढ़ेगें! अगर आज के समय की बात करे तो आज के समय में हमारे आस पास चारो तरफ विज्ञानं के दिए गए उपहार पड़े हुए है!  विज्ञान ने हम सभी के लिए बहुत से तरह तरह के चीज़ उपहार के रूप में दिया है! एक  समय था जब मानव आसमान में उड़ने के लिए सपने देखते था! लेकिन आज वह सपना सच हो गया है! और ये सपना केवल विज्ञान के उपहार के वजह से सच हुआ है! आज मानव विज्ञान के शक्ति के कारण आकाश में उड़ रहा है! देश विदेश की घटनाओ को कानो से सुन रहा है! और इसके साथ साथ अपने आखों से देख भी रहा है! अगर आप इस बात पर गौर करे की हम अपने घर पर बैठकर देश विदेश के सभी चीजों के बारे घर से ही पता करके देख लेते है! ये विज्ञान का ही उपहार है की हम बड़े बड़े महासागरो को बिना डरे पार कर रहे है! विज्ञान के चमत्कारों को देखकर मानव कभी हर्ष से उछल पड़ता है तो कभी भय से काँप उठता है! और इसके साथ साथ कभी कभी आश्चर्ये से अपनी उगली को दातों तले दबा लेता है! 

Essay on Television in Hindi | टेलीविजन पर निबंध 

अगर बात  करे विज्ञान के अभिष्कार की तो विज्ञान ने बहुत से चीजों का  अभिष्कार किया है! विज्ञान के द्वारा किये गाये  अभिष्कार को हम गिन नहीं सकते है!  विज्ञान के अभिष्कार में टेलीविजन का भी नाम आता है!  टेलीविजन की खोज एक बहुत बड़ी खोज मानी जाति है!  टेलीविजन के द्वारा हम हर एक चीज़ को घर पर बैठ कर देख लेते है! टेलीविजन का खोज जबसे हुआ है तब  ये हमारे लिए बहुत उपयोगी बन गया है! अगर बात करे  टेलीविजन की तो  टेलीविजन के द्वारा हमको बहुत से फायदे मिलते है! 

टेलीविजन से होने वाले फायदे को हम गिन नहीं सकते है! लेकिन ये बात भी सही है की  टेलीविजन के उपयोग करने से जितना फायदा होता है उतना हानि भी होता है! इस प्रकार हम कह सकते है की  टेलीविजन के उपयोग से मानव को लाभ और हानि दोनों होती है! इसलिए हमको इसको एक नियम के अनुसार उपयोग करना चाहिये! 

 टेलीविजन एक अंग्रेजी भाषा का शब्द है! अगर बात करे की  टेलीविजन का हिंदी में अर्थ क्या होता है! तो मै आपको बता दू! की  टेलीविजन का  हिंदी अर्थ दूरदर्शन होता है! जैसा की दूरदर्शन के नाम से ही ये स्पष्ट होता है की इसका मतलब दूर के दर्शन हम घर पर बैठे सफलतापूर्वक कर सकते है! 

टेलीविजन की खोज 1915 में ब्रिटेन के जाँन एल. बेअर्ड ने किया था! अगर भारत की बात की जाये तो हमारे भारत देश में  टेलीविजन की शुरुवात 1966 में हुआ था! भारत में सबसे पहले दिल्ली में दूरदर्शन केन्द्र की शुरुवात की गयी थी! इसके बाद 1972 तक कोलकाता , मुंबई , पुणे , अमृतसर , श्रीनगर, चेन्नई और कानपुर में भी दूरदर्शन केन्द्र की स्थापना हो गयी थी! आज कल  इस लाइन में बहुत ही तेजी से काम हो रहा है! इस समय टेलीविजन के कार्यक्रम कृत्रिम उपग्रहों के द्वारा प्रसारित किये जाते है! 

आज के समय में टेलीविजन मनोरंजन का आधुनिक साधन है! रेडियो और ट्रांजिस्टर केवल ध्वनि के साधन है! जबकि टेलीविजन  ध्वनि और पिक्चर दोनों का संगम है! टेलीविजन के द्वारा हम प्रोग्राम में भाग ले रहे ब्यक्ति को जिन्दा रूप में देख सकते है! ऐसा लगता है की मानो सब कुछ हमारे सामने ही घटित हो रहा है! 

टेलीविजन के लगभग उतने ही उपयोग है जितने हमारे आखों के है! हम नाटक , संगीत सभा , खेलकूद , मूवी , जैसी और भी बहुत से चीजों को हम टेलीविजन पर देखकर अपना पूरा मनोरंजन कर सकते है! टेलीविजन के द्वारा बहुत से प्रोग्राम का सीधा प्रसारण किया जाता है! पढाई के छेत्र में टेलीविजन का उपयोग बहुत ज्यादा हो रहा है! टेलीविजन की सहायता से दूर बैठे लाखो लोग एक ही समय में लाभ उठाते है! टेलीविजन के द्वारा धार्मिक , राजनीतिक और सामाजिक घटनाओ का प्रसारण भी किया जाता है! 

टेलीविजन पर कृषि से related बहुत से प्रोग्राम का प्रसारण किया जाता है! टेलीविजन के माध्यम से किसानो को खेती की नई नई विधिय सिखाई जाती है! जिससे किसानो को बहुत लाभ होता है! टेलीविजन के द्वारा लोगो को मौसम के related जानकारी भी बहुत ही आसनी से घर पर बैठे मिल जाती है! 

टेलीविजन कैमरा पृथ्बी से दूर स्थित ग्रहों की साफ़ तस्बीर खीचकर दिखाता है! सबसे पहले रूस के एक कृत्रिम उपग्रह में स्थित टेलीविजन कैमरे ने चंद्रमा के सतह का फोटो भेजा था! तब से लेकर आज तक अनेक ग्रहों की फोटो इसके माध्यम से देखी जा रही है! और इसके साथ साथ नये चीजो के बारे में और पता चल रहा है! 

हम उम्मीद करते है की टेलीविजन विकासशील भारत के लिए कारगर उपयोगी साधन होगा! जो उन समस्याओ , परिवार नियोजन , पढाई , स्वास्थ , जैसी और भी बहुत से चीजों का ब्यापक  प्रसार करेगा! हम उम्मीद करते है की टेलीविजन आने वाले समय में हमारे देश के बहुत से प्रॉब्लम को ठीक करने में मदद करेगा! 

मै उम्मीद करता हु की आपको Essay on Television in Hindi पसंद आया होगा! यदि आपको ये Essay on Television in Hindi Language पसंद आया है तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले!

प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी doordarshan essay in hindi language के बारे कोई इनफार्मेशन हो तो आप उस  इनफार्मेशन को मेरे पर्सनल ईमेल  [email protected] पर भेज सकते है!. हम आपके उस इनफार्मेशन को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!

आपके पास doordarshan essay in hindi language में  और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें email करके बताये हम इसको update करते रहेंगे! अगर आपको doordarshan essay in hindi language  अच्छा लगे तो इसको  facebook पर share कीजिये.