Saddam

Motivational Story in Hindi | बेईमानी का फल


Motivational Story in Hindi

Motivational Story in Hindi | बेईमानी का फल 

नमस्कार दोस्तों आज हम आपके लिए एक बहुत ही मोटिवेशन स्टोरी  ( Motivational Story in Hindi)  लए है! ये एक  Hindi Short Stories है! जिसमे आपको ये सिख मिलेगी की लालच करना आपको बहुत नुकसान पंहुचा देता है! ये Hindi Short Stories एक ऐसी ब्यापारी की कहानी है जिसको उसके लालच के वजह से अपने सारे धन को खो देता पढता है! तो दोस्तों आप इस   Hindi Short Stories को पढ़ो और इस Hindi Kahani से मिलने वाली सिख (Motivation) को ग्रहण करो! यदि आपको ये मोटिवेशन स्टोरी (Motivational Story in Hindi ) पसंद आये तो इसको शेयर करना ना भूले

#Motivational Story in Hindi- बेईमानी का फल 

एक ब्यापारी था उसने जो भी कमाया था उन सभी पैसे से सोने के १०० सिक्के खरीद लिए! एक दिन वो बाजार मे से जा  रहा था तभी उसकी सोने के सिक्के से भारी थैली बाजार मे कही पर पर खो गया गया! ब्यापारी बहुत दुखी हो गया और वह तुरंत भागते भागते राजा के पास गया! और अपनी आपबीती राजा को सुनाया! राजा ने जब  ब्यापारी की आपबीती सुनी तो उसने पुरे राज्ये में ये ऐलान करवा दिया की जो भी उस सोने से भरी थैली को ढूढ़कर लाएगा उसको १० सोने के सिक्के उपहार के तौर पर दिया जायेगा! कुछ दिन के बाद एक आदमी ने सोने से भरे थैली को लेकर ब्यापारी के घर पर पंहुचा! और उसने उस थैली को उस ब्यापारी को दे दिया!

ब्यापारी अंदर जा कर सोने के सिक्के गिनने लगा और उसने पाया की थैली में पुरे १०० सिक्के है! उसके बाद ब्यापारी ने सोचा की मै इस आदमी को १० सिक्के क्यों दू! इसलिए ब्यापारी ने थैली से १० सिक्के अलग कर दिया और उस आदमी पर १० सिक्के चुराने का आरोप लगा दिया! ब्यापारी उस आदमी को लेकर राजा के पास पंहुचा! उसने राजा से कहा की महाराज इस आदमी ने मेरे थैली से १० सिक्के पहले ही निकल लिए है!

 उस आदमी ने लगातार सिक्के ना लेने की बात कहता रहा तभी  राजा सिक्के की थैली लेकर कहता है! की लगता है ये थैली किसी दूसरे की है और यह थैली इतनी छोटी है की इसमें नब्बे सिक्के से ज्यादा आएंगे ही नहीं ये थैली बतौर इनाम इस आदमी को दिया जाता है! इतना सुनते ही धोकेबाज ब्यापारी कहता है महाराज ये थैली मेरी ही है! और मैंने ही १० सिक्के निकल कर रख लिए है कृपा करके ये थैली मुझे लौटा दे! इतना सुनते ही राजा बहुत क्रोधिक हो उठता है! और सोने से भरी थैली ईमानदार आदमी को दे देता है! और उस लालची ब्यापारी  को कारागार में बंद कर देता है!

आपने इस Motivational Story in Hindi में देखा की कैसे एक  ब्यापारी को उसकी लालच के कारण अपने सारे सोने के सिक्के से हाथ धोना पढ़ा! यदि आप झूठ बोलते है! तो ये बात तो पक्की है! की आपका झूट एक ना एक दिन जरूर पकड़ा जाता है! और हम सभी को पता है लालच का फल बुरा होता है! इसलिए कभी भी झूठ ना बोले हमेशा सच बोले और कभी भी किसी भी चीज़े में लालच ना करे! झूठ  बोलने से और लालच करने से हमको क्या क्या नुक्सान होते है! वह इस  Motivational Story in Hindi में  साफ़ साफ़ दिखाई गया है! ये   Hindi Short Stories आपके लिए एक प्रेरणादायक Hindi Kahani की तरह है!

इस Motivational Story in Hindi से क्या सीख मिलता है-

"इस  Motivational Story in Hindi से हमको ये सीख मिलती है! हमेशा सच बोलना चाहिये! कभी भी लालचा नहीं करना चाहिये और ईमानदारी के साथ रहना चाहिये! ये सभी चीज़े इस Hindi Short Stories से हमको सिखने को मिलता है!" 

इस Motivational Story in Hindi के लेखक का परिचय-

लेखक का नाम- वानिया भारद्वाज 
कछा- 7th Class
शहर  का नाम- सहारनपुर (उत्तर प्रदेश)  
स्कूल का नाम- यसडी कन्या इन्टर कॉलेज  सहारनपुर, उत्तर प्रदेश 

मै उम्मीद करता हु! की आपको  ये Motivational Story in Hindi पसंद आया होगा! यदि आप इस तरह के और भी बेहतरीन Hindi Kahani पाना चाहते है! तो अभी हमारे फेसबुक पेज को Like करे और यदि आप हमारे वेबसाइट के सभी Hindi Short Stories और Motivational Story in Hindi डायरेक्ट अपने ईमेल इनबॉक्स में पाना कहते है! तो अभी हमारे वेबसाइट को Sign up करो और पाये हर एक Hindi Kahani की अपडेट डायरेक्ट अपने ईमेल इनबॉक्स में-

प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी कोई ऐसा कोई   Motivational Story in Hindi,   Hindi Short Stories या फिर किसी भी प्रकार की Hindi Kahani हो जो आपके के हिसाब से लोगो के साथ शेयर करना चाहिए तो आप उन सभी Motivational Story in Hindi को मेरे पर्सनल ईमेल  Saddamhusen596@gmail.com पर भेज सकते है!. हम आपके उस सभी  Hindi Kahani  को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!