Saddam

Bird Flu In Hindi Language | बर्ड प्लु के बारे में बेसिक जानकारी

Bird Flu In Hindi

Bird Flu In Hindi Language | बर्ड प्लु के बारे में बेसिक जानकारी 

आज हम इस आर्टिकल में Bird Flu In Hindi Language मतलब की बर्ड प्लु के बेसिक चीज़ों के बारे में पढ़ेगें! आज कल हम लोग आये दिन बर्ड प्लु बीमारी के बारे में सुनते है! आज कल बर्ड प्लु एक बहुत ही जटिल बीमारी बन गयी है! बर्ड प्लु की बीमारी को सबसे ज्यादा मुर्गियों में पाया गया है! बर्ड प्लु की वजह से बहुत सारी मुर्गिय मर जा रही है! अभी तक बर्ड प्लु को ठीक तरीके से ठीक करने के लिए कोई बढ़िया दवा नहीं बना है! भारत में भी बर्ड प्लु  की बीमारी काफी तेजी से बढ़ रही है! हमारे सरकार को बर्ड प्लु बीमारी के निजाज के लिए कोई बढ़िया कदम उठाना होगा! हम उम्मीद करते है! की आने वाले दिनों में हम अपने देश से बर्ड प्लु बीमारी को पूरी तरह भगा देंगें!

एवियन इंप्लुएंजा अर्थात बर्ड प्लु एक छुट की बीमारी है! जो एक तरह से वायरस से फैलता है! बर्ड प्लु की बीमारी ज्यादातर पछियों में होती है! लेकिन कभी कभी बर्ड प्लु के कारण सूअर भी प्रभावित हो जाते है! वैसे यह बीमारी जानवरों में होती है लेकिन देखा गया है की कई बार बर्ड प्लु मनुष्य को भी प्रभावित कर गयी है! बर्ड प्लु एक बहुत ही जटिल बीमारी है जो आये दिन पछियों में होता रहता है! अभी हाल ही में हमारे दिल्ली शहर में बर्ड प्लु के कारण बहुत सारे मुर्गियों की मौत हो गयी और इसके साथ साथ बहुत सारी मुर्गिय अभी भी इससे प्रभावित है! 


घरेलू मुर्गी फर्मो में बर्ड प्लु से दो तरह की बीमारी होने की शंका रहती है! जिसमे से पहले वाले को निम्न और दुसरे वाले को उच्च कहा जाता है! किसी मुर्गी में निम्न वाली बीमारी होने पर उस मुर्गी के पंख बिखर जाते है! और वे नम अंडे देने लगती है! उच्च वाली बीमारी होने पर मुर्गिया 48 घंटे के अंदर मर जाती है! 


बर्ड प्लु से प्रभावित मनुष्यों में बुखार , खासी , गले में खराश , मांसपेशियों में दर्द , न्युमोनिया , सांस लेने में तकलीफ तथा जीवन को संकट में डालने वाली जटिलताएं पैदा हो जाती है! वैसे बर्ड प्लु के लछन इसको फ़ैलाने वाले वायरस पर निर्भर करता है! बर्ड प्लु से प्रभावित पछियों के लार , नाक से निकलने वाले पानी तथा मुहं से निकलने वाली भाप में वायरस होता है! इन सभी चीजों के संपर्क में आने पर दुसरे पछियों को भी बर्ड प्लु हो जाता है! मनुष्य में भी यह बीमारी इसी तरह फैलती है! लेकिन बर्ड प्लु एक पछी से दुसरे पछी में फैलता है! एक मनुष्य से दुसरे मनुष्य में इसको फैलते हुए बहुत कम बार पाया गया है! 


बहुत से प्रवासी पछी सर्दियों में भारत आते है! यदि वे बर्ड प्लु से प्रभावित है तो यह बीमारी भारतीय पछियों में भी फ़ैल सकती है! जहाँ तक मनुष्यों में इस बीमारी के फैलने की बात है तो वायरस अपने रूप और कार्य बदलते रहते है! अगर बर्ड प्लु का वायरस ऐसे रूप में आ जाता है जिससे मनुष्य प्रभावित हो सकते है! तो ये जरुर चिंता की बात होगी! इस बीमारी को दूर करने के लिए अभी तक दो दवाईयों को उपयोग किया जा रहा है! जिन दो दवाईयों का उपयोग इसके इलाज के लिए किया जा रहा है उसका नाम ओसेलटा ( टैमीप्लु) और जसमइविट (तैलेंजा) है! यदि इन दोनों दवा को बीमारी की शुरुवात में ही दे दिया जाये तो इस बीमारी से ठीक होने की संभावना ज्यादा रहती है! ये दोनों दवा वायरस की सतह पर पाय जाने वाले न्यूरामिनिडेस नामक प्रोटीन को खत्म कर देता है! जिससे यह एक कोशिका से दुसरे कोशिका में नहीं जा पाता है! 


मै उम्मीद करता हु की आपको Bird Flu In Hindi Language  पसंद आया होगा! यदि आपको ये Bird Flu In Hindi Language पसंद आया है तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले!


प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी Bird Flu In Hindi Language से related कोई इनफार्मेशन हो तो आप उस  इनफार्मेशन को मेरे पर्सनल ईमेल  [email protected] पर भेज सकते है!. हम आपके उस इनफार्मेशन को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!


आपके पास Bird Flu In Hindi Language में और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें email करके बताये हम इसको update करते रहेंगे! अगर आपको Bird Flu In Hindi Language अच्छा लगे तो इसको  facebook पर share कीजिये.