Saddam

Essay on Nobel Prize in Hindi | नोबल पुरस्कार पर निबन्ध

Essay-on-Nobel-Prize-in-Hindi


Essay on Nobel Prize in Hindi | नोबल पुरस्कार पर निबन्ध

हेलो दोस्तों आज हम Essay on Nobel Prize in Hindi मतलब की नोबेल पुरस्कार पर निबंध को पढ़ेगें! यदि आप न्यूज़ को देखते या फिर पढ़ते होंगें! तो आपने जरुर कही ना नहीं Nobel Prize के बारे में सुना होगा! यदि किसी person को Nobel Prize मिलता है तो ये उसके लिए बहुत सम्मान की बात होती है! इस समय पूरी दुनिया का सबसे बढ़ा अवार्ड Nobel Prize ही है! कई सारे इंडियन को भी उनके बढ़िया काम के लिए  Nobel Prize मिल चूका है! 

Nobel Prize एक ऐसा पुरस्कार है जिसको शांति , साहित्य , भैतिक  शास्त्र, रसायन  शास्त्र, चिकित्सा  शास्त्र और अर्थ  शास्त्र के छेत्र में लोगो को उनके बढ़िया काम या फिर योगदान के लिए दिया जाता है! Nobel Prize एक ऐसा अवार्ड है जिसमे लिंग , जाति , धर्म , देश और भेद भाव किसी भी तरह की चीजों को नहीं देखा जाता है!  Nobel Prize की शुरुवात 1901 से हुआ था तब से ये पुरस्कार ऊपर बताये गए छेत्र में दिया जाता है! Nobel Prize में मिलने वाते पैसे की बात करे तो अभी Nobel Prize में मिलने वाली राशि 10 लाख dollor से भी ज्यादा है! Nobel Prize किसी को मिलने का मतलब एक बहुत बड़ा सम्मान है इसमें लोग पैसे से ज्यादा सम्मान के ऊपर ध्यान देते है!

जिन लोगो को Nobel Prize मिलता है उनको इसमें मिलने वाली इनाम राशि के अलावा स्वर्ण पदक और प्रमाण पत्र भी दिए जाते है! अब तक 1 हजार से भी ज्यादा प्रतिभावान  लोग Nobel Prize पा चुके है! अगर आप सोच रहे है की Nobel Prize केवल पुरुषो को मिलता है तो आप गलत सोच रहे है पुरुषो के साथ साथ महिलायों को भी Nobel Prize दिया जाता है! अभी तक सैकड़ो से भी ज्यादा महिलाये Nobel Prize पा चुकी है! 

स्वीडन के एक बैज्ञानिक अल्फ्रेड बर्नहाई नोबल के नाम पर ही Nobel Prize का नामकरण किया गया था! अल्फ्रेड बर्नहाई नोबल का जन्म 21 अक्तूबर 1833 को एक बहुत ही गरीब परिवार में हुआ था! एक गरीब परिवार में पैदा होने के बाद भी अल्फ्रेड बर्नहाई नोबल ने अपने मेनहत और लगन से 1866 में डायनामाइट जैसे importent विस्फोटक की खोज करके पूरी दुनिया को चकित कर दिया था!

अल्फ्रेड बर्नहाई नोबल के इस खोज से पूरी दुनिया में उनका डंका बजने लगा! और उनकी इस खोज के कारण उनको बहुत पैसे मिले! अल्फ्रेड बर्नहाई नोबल की मौत से पहले उनके पास 90 लाख dollor रूपए थे! और जब  अल्फ्रेड बर्नहाई नोबल मौत हुई उसके बाद जब उनकी वसीहत को पढ़ा गया तो वह कुछ इस प्रकार था! " मेरे मरने के बाद मेरी सारी राशि एक बैंक में जमा कर दी जाये! और उससे मिलने वाले ब्याज से हर साल शांति , साहित्य , भैतिक  शास्त्र, रसायन  शास्त्र, चिकित्सा  शास्त्र और अर्थ  शास्त्र के छेत्र में महत्यपूर्ण कार्य करने वाले लोगो को पुरस्कार दिया जाये!

जब 10 दिसम्बर 1896 को  अल्फ्रेड बर्नहाई नोबल की मौत हुई उसके बाद उनकी वसीहत के अनुसार उनके सारे पैसे को बैंक में जमा करके 1901 से अब तक हर साल 10 दिसम्बर को उस राशि से मिलने वाले ब्याज से नोबल पुरस्कार दिया जाता है! 

Nobel Prize के निर्धारण एक चयन समिति के द्वारा किया जाता है!जब कभी एक विषय पर पुरस्कार पाने वाले की संख्या एक से अधिक होती है! तो पुरस्कार की राशि सबसे समान रूप से बाँट दी जाति है! यदि किसी साल कोई योग्य उम्मीदवार नहीं मिलता है तो उस साल का पुरस्कार नहीं दिया जाता है! किसी ब्यक्ति के मरने के बाद भी Nobel Prize दिया जाता है!

अगर बात भारत की की जाये तो कई ऐसे इंडियन लोग है जिनको Nobel Prize मिला है! साहित्य के लिए रविन्द्रनाथ टैगोर को 1913 में, भैतिक  शास्त्र के लिए 1929 को सी. वी. रमन को,  शांति के लिए 1979 को मदर टेरेसा को, को मिला था! Nobel Prize में मैडम क्युरी  का नाम मुख्य रूप से लिया जाता है! क्योकि इनके परिवार का हर एक ब्यक्ति को Nobel Prize मिला था! मैडम क्युरी  को दो बार और उनके पति , बेटे और दामाद को एक एक बार Nobel Prize मिला था! 

किसी भी क्यक्ति के लिए Nobel Prize मिलना बहुत ही सम्मान की बात है! एक देश के लिए Nobel Prize पाना अपने आप में एक बहुत बड़ी बात है! किसी ब्यक्ति को Nobel Prize मिलने का मतलब ये होता है की वह जिस देश में रहता है उस देश का वह एक अमूल्य नागरिक है! हम उम्मीद करते है की आने वाले समय में हमारे भारत देश के और लोगो को Nobel Prize मिलेगा! 

मै उम्मीद करता हु की आपको Essay on Nobel Prize in Hindi पसंद आया होगा! यदि आपको ये Essay on Nobel Prize in Hindi Language पसंद आया है तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले!

प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी nobel prize in hindi से related कोई इनफार्मेशन हो तो आप उस इनफार्मेशन को मेरे पर्सनल ईमेल  [email protected] पर भेज सकते है!. हम आपके उस इनफार्मेशन या आर्टिकल को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!

आपके पास मैं nobel prize in hindi Language और Information हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें email करके बताये हम इसको update करते रहेंगे! अगर आपको   Essay on Nobel Prize in Hindi अच्छा लगे तो इसको  facebook पर share कीजिये.

Tag- nobel prize in hindi language,nobel prize in hindi 2016, nobel prize in hindi wikipedia, nobel prize in hindi, nobel prize in hindi poets, nobel prize winners in hindi, about nobel prize in hindi, about nobel prize in hindi language, nobel prize awardees in hindi, nobel prize award winners in hindi, article on nobel prize in hindi, all about nobel prize in hindi, information about nobel prize in hindi language, what do you mean by nobel prize in hindi, what do you understand by nobel prize in hindi, nobel prize details in hindi, nobel prize definition in hindi, nobel prize essay in hindi, nobel prize winners essay in hindi, essay on nobel prize in hindi language, nobel prize for hindi literature, nobel prize facts in hindi, first indian nobel prize winner in hindi, who got nobel prize in hindi, how many indian got nobel prize in hindi, nobel prize history hindi, nobel prize history in hindi language, nobel prize winners history in hindi, nobel prize winners in india hindi, nobel prize information in hindi, nobel prize introduction in hindi, nobel prize in literature in hindi, nobel prize winners in hindi language, nobel prize 2014 in hindi language, nobel prize meaning in hindi, nobel prize money in hindi, mother teresa nobel prize in hindi, nobel prize nelson mandela in hindi, nobel prize winner malala in hindi, nobel prize winner mother teresa in hindi language, nobel prize 2014 hindi news, nobel prize news in hindi, nobel prize of hindi, history of nobel prize in hindi, essay on nobel prize in hindi, meaning of nobel prize in hindi, definition of nobel prize in hindi, nobel prize story in hindi, scientist who won nobel prize in hindi, about the nobel prize in hindi, nobel prize winners hindi