Essay on Olympic Games in Hindi- ओलंपिक खेलो पर निबंध

Essay on Olympic Games in Hindi

हेलो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में Essay on Olympic Games in Hindi मतलब की ओलंपिक खेलो  पर निबंध पढ़ेगें! ओलंपिक एक ऐसा खेल मेला है जिसके बारे में सभी को पता होगा! यदि आप न्यूज़ या फिर अखबार को पढ़ते है तो आप भी बहुत बार ओलंपिक खेलो का नाम सुना होगा! ओलंपिक एक ऐसा खेल है जिसमे पूरी दुनिया के देश के खिलाडी भाग लेते है! ओलंपिक का आयोजन हर 4 साल के बाद अलग अलग देशो में होता है! Olympic Games को एक तरह से हम लोग शांति का खेल कह सकते है! ओलंपिक खेलो के माध्यम से सभी देश आपस में मतभेद मिटाकर इस दुनिया के सामने एक भाईचारे का मिसाल प्रगट करते है!

Essay on Olympic Games in Hindi- ओलंपिक खेलो पर निबंध


ओलंपिक खेलो में अलग अलग देशो के खिलाडी जाति , धर्म, राजनीति , भाषा , और समप्रदा का भेद भुलाकर एक जगह पर एकत्रित होकर अपने कौशाल का प्रदर्शन दुनिया के सामने दिखाते है! ओलंपिक खेलो में पहला , दूसरा और तीसरे स्तर के बिजेताओ को क्रमश: स्वर्ण , रजत और कांस्य पदक प्रदान किया जाता है! 

अगर कोई खिलाडी ओलंपिक खेलो में अपने देश के लिए कोई पदक जीतता है तो ये उसके और उसके देश के लिए बहुत गर्व की बात होती है! और उस खिलाडी का अपने देश में बहुत ज्यादा सम्मान बढ़ जाता है!

भारत के कई ऐसे लोग है जो Olympic Games में भारत देश के लिए पदक जीत चुके है! ओलंपिक खेल पूरी दुनिया के लिए एक मिसाल है और ये खेल पूरी दुनिया के खिलाडियों को एक सूत्र में जोड़ता है! 

Olympic Games में बहुत प्रकार के खेल खेले जाते है! ओलंपिक खेलो में खेले जाने वाले खेलो की गिनती हम नहीं कर सकते है! क्योकि उनकी संख्या बहुत ज्यादा है! फिर भी मै आपको कुछ बहुत पापुलर खेलो के बारे में बताता हु जिसको ओलंपिक खेलो में खेले जाता है! जैसे- तीरंदाजी , ऐथलेटिक्स, टेनिस , बास्केटबाल , फूटबाल , हैण्डबाल, बालीबाल , हाकी , कुश्ती , तैराकी , नौकादौड़ , भरोत्तोलन , निशानेबाजी , तलवारबाजी आदि! इन सभी खेलो के अलावा और भी बहुत से खेल है जिसको ओलंपिक खेलो में खेला जाता है! 

अगर हम बात करे Olympic Games के इतिहास की तो ओलंपिक खेलो का इतिहास बहुत पुराना है! ओलंपिक खेलो का सबसे पहला आयोजन 776 ईस्वी पूर्व में यूनान के एथेंस शहर के ओलंपियन पर्वत के तलहटी में इस खेल का आयोजन किया गया था! बाद में  ओलंपियन पर्वत के नाम पर ही इस आयोजन का नाम ओलंपिक पडा! 

समय के साथ साथ इस आयोजन के परम्परा और आयोजन में संशोधन होता गया! और इस समय ये खेल पूरी दुनिया को अपने में समाहित किये हुए है! आधुनिक ओलंपिक खेलो के आयोजन का मुख्य श्रेय यूनानी निवासी पियरे द कुबरतीन को जाता है!  पियरे द कुबरतीन के अथक प्रयासों के कारण ही आज ओलंपिक खेलो का विशाल स्वरूप पूरी दुनिया के सामने है! 

ओलंपिक का अपना एक झंडा है! और उस झंडे का रंग सफ़ेद है! जिसमे आपस में जुड़े 5 गोले अंकित है! ये गोले पांचो महादीप के प्रतीक है! जिस समय ओलंपिक खेलो का आयोजन किया जाता है उस समय मसाला जलाकर हाजरो कबुतारो को आकाश में छोड़ा जाता है! जिसको पूरी दुनिया के लिए शांति का प्रतीक माना जाता है! 

Olympic Games का प्रथम आयोजन सन 1896 में यूनान के एथेंस शहर में ही हुआ था! इसके बाद ये हर चार साल के बाद इस दुनिया के बड़े बड़े नगरो में इसका आयोजन किया जाता है! सन 2008 के ओलंपिक खेलो का आयोजन चीन के बीजिंग शहर में बहुत ही भब्य इसका आयोजन किया गया था! इसके साथ साथ 2012 में Olympic Games का आयोजन लन्दन में किया गया था! अभी हाल में 2016 में ओलंपिक खेलो का आयोजन ब्राजील के रियो शहर में किया गया था! जिसमे पूरी दुनिया के खिलाडियों ने अपने खेल का जलवा लोगो के सामने दिखाया था! 

1928 के Olympic Games में सबसे पहले गुलाम भारत ने हाकी का स्वर्ण पदक जीतकर पूरी दुनिया को चकित कर दिया था! लेकिन अधिकारिक रूप से उसने 1942 के पेरिस ओलंपिक खेलो में भाग लिया!आजाद भारत ने सबसे पहले 1948 के लन्दन ओलंपिक में भाग लिए था! अगर बात करे भारत की तो भारत का हाकी को छोड़कर दुसरे खेलो में भारत का प्रदर्सन कुछ बढ़िया नहीं रहा है! हाकी में भारत ने अब तक 8 स्वर्ण पदक जीत चूका है! 1952 में भारत के खाशाबा जाधव ने अपना ब्यक्तिगत पदक कुश्ती में जीता था! 1996 में लिएंडर पेस ने टेनिस में कांस्य पदक, 2004 में राज्यवर्धन सिंह राठोर ने निशानेबाजी ने रजत पदक जीता था! 2012 के लन्दन ओलंपिक में पहली बार अभिनव बिंद्रा निशानेबाजी के ब्यक्तिगत स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था!

अभी हाल ही में ख़तम हुए ओलंपिक की बार करे तो 2016 के रियो ओलंपिक में साक्षी मलिक ने महिला कुस्ती में भारत के लिए कांस्य पदक जीता है! साक्षी मालिक पहली ऐसी भारतीय महिला बन गयी है जिसने कुस्ती में भारत के लिए कोई पदक जीता है! इसके साथ साथ टेनिस में पी. वी . सिन्धु ने रजत पदक जीता था! पी. वी . सिन्धु ओलंपिक खेलो में टेनिस में फाइनल तक का सफ़र तय करने वाली पहली महिला टेनिस खिलाडी बन गयी है! 

खेल की दुनिया में हाल जीत का कोई महत्व नहीं होता है! बल्कि इसमें महत्व होता है अनुसाशन , भाईचारे और इमानदारी का! ओलंपिक खेलो का उद्देश खेलो के माध्यम से सारे दुनिया को एक सूत्र से जोड़ना है! इसलिए दुनिया को एक साथ लाने के लिए हर साल ओलंपिक खेलो का आयोजन किया जाता है! हम सभी उम्मीद करते है की ओलंपिक खेलो का आयोजन इसी तरह चलता रहेगा! और ओलंपिक खेलो के माध्यम से पूरी दुनिया में शांति बनी रहेगी! 

Read More Hindi Essay-
1- Essay on Nobel Prize in Hindi 
2- Essay on Save Trees in Hindi
3- Samay Ka Mahatva Essay in Hindi
4- Essay On Importance Of Education in Hindi
5- Essay On Modern Education System in Hindi

मै उम्मीद करता हु की आपको Essay on Olympic Games in Hindi language पसंद आया होगा! यदि आपको ये Essay on Olympic Games in Hindi पसंद आया है तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले!

प्रिय मित्रो यदि आपके पास भी Olympic Games in Hindi language से related कोई इनफार्मेशन हो तो आप उस  इनफार्मेशन को मेरे पर्सनल ईमेल  [email protected] पर भेज सकते है!. हम आपके उस इनफार्मेशन या आर्टिकल को आपके नाम और फोटो के साथ अपने वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे!

Tag- olympic games in hindi 2016, olympic games in hindi language, olympic games in hindi, olympic games history in hindi, olympic games wikipedia in hindi, olympic games essay in hindi, olympic games list in hindi, olympic games 2012 in hindi language, olympic games 2014 in hindi, ancient olympic games in hindi, about olympic games in hindi, about olympic games in hindi language, article on olympic games in hindi, olympic games and india in hindi, brief history of olympic games in hindi, olympic games details in hindi, olympic games history hindi, olympic games information in hindi, olympic games 2012 information in hindi, what is olympic games in hindi, olympic games in london in hindi, olympic games history in hindi language, essay on olympic games in hindi language, modern olympic games in hindi, olympic games hindi news, short note on olympic games in hindi, history of olympic games in hindi, essay on olympic games in hindi, list of olympic games in hindi, poem on olympic games in hindi, history of olympic games in hindi pdf, paragraph on olympic games in hindi, the history of olympic games in hindi, olympic games 2012 in hindi, olympic games 2012 wikipedia in hindi, essay on olympic games 2012 in hindi, Essay on Olympic Games in Hindi language, short essay on olympic games in hindi, paragraph on olympic games in hindi...