Essay On Rainy Season in Hindi- वर्षा ऋतू पर निबन्ध



Essay On Rainy Season in Hindi


Essay On Rainy Season in Hindi- वर्षा ऋतू पर निबन्ध


हेलो दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में Essay On Rainy season in Hindi मतलब की वर्षा ऋतू पर निबन्ध पढ़ेगें! Rainy Season हर एक के लिए एक favourite season होता है! हर साल hot summer season के बाद Rainy season आता है! मै भी Rainy season को बहुत ज्यादा पसंद करता हूँ! मुझे Rainy season इसलिए पसंद है क्योकि Rainy season तब आता है! 

जब बहुत ज्यादा गर्मी पड़ चुकी होती है! हम सभी को पता है की गर्मी के दिनों में हमको कितनी problem का सामना करना पढता है! इसलिए जब गर्मी के बाद जब Rainy season आता है तो पूरा वातावरण cool cool रहता है! गर्मी के बाद ठंडे वातावरण का मजा ही कुछ और होता है! Rainy season हर साल जुलाई के महीने में आता है! जुलाई के महीने को लोग हिंदी में सावन का महीना कहते है! जुलाई के बाद 3 महीने तक Rainy season रहता है! और इन 3 महीने में बहुत बारिश होती है! 

Rainy season का मतलब वर्षा ऋतू होता है! लोगो का मनाना है की जब हमारे देश की भूमि गर्मी के कारण एकदम सुख जाति है! तब उस भूमि के सूखे को कम करने के लिए हर साल वर्षा ऋतू  का आवागमन होता है! वर्षा ऋतू  सभी लोगो के लिए एक तरह से वरदान होता है! वर्षा ऋतू  पर सभी जंगलो और पेड़ो में हरियाली आ जाती है! जो लोग किसान होते है और खेती बारी करते है उनके लिए वर्षा ऋतू एक उम्मीद लेकर आती है! 


वर्षा ऋतू का फायदा हम सभी को होता है! वर्षा ऋतू  में बारिश होने पर सभी सूखे पोखरे , नल नालिय और नदिया पानी से भर जाति है! ये सभी नदी नालिय जानवरों और मानव के लिए एक वरदान होती है! इन नदी नालो से किसान अपने खेत को सिचता है! और यही नहीं नालिय ही जानवरों के लिए पानी प्रदान करते है! जिनके कारण सभी जानवर जिन्दा रहते है! वर्षा ऋतू  में जब बारिश होती है! तब सभी जंगले और खेत खलियान हरे भरे हो जाते है! जंगल में उगले वाली घास जानवरों के भोजन का मुख्य स्रोत है! इसलिए आज साल वर्षा ऋतू season आना हम सब के लिए बहुत जरुरी है!


हम सब को भगवान से ये प्राथन करना चाहिये की प्रकृति का ये क्रम ऐसे ही चलता रहे! अगर प्रकृति के इस क्रम में किसी भी प्रकार की कोई बाधा आ जाती है तो उस बाधा के वजह से हमको बहुत से नुकसान का सामना करना पड़ सकता है! Rainy season हम सभी के लिए एक वरदान है और इसके लिए हमको भगवान् और प्रकृति दोनों को थैंक्स कहना चाहिये!



वर्षा ऋतू  के महीने में हमेसा आकाश में बादल छाया रहता है जिसके कारण आकाश  बहुत सुंदर लगता है! इसके साथ साथ हमारा वातावरण भी बहुत ठंडा ठंडा रहता है! वर्षा ऋतू  के महीने में जब बारिश होती है तब हर एक जगह पर केवल  मेंढक  की ही आवाज सुनाई देती है! लोगो का मानना है की जब  मेंढक टर्र-टर्र की आवाज निकलते है तो इसका मतलब ये होता है की अब बारिश होने वाली है! इसके साथ साथ वर्षा ऋतू  के महीने में सभी पेड़ो ने नये नये पत्ते निकलते है! 


हर एक पेड़ के पत्ते एकदम हरे भरे होते है! जिनके घर पर जानवर या फिर भेड़ बकरिया होती है वह लोग इन पत्तो का उपयोग  जानवर और भेड़ बकरिया के भोजन के लिए करते है!  जानवर और भेड़ बकरिया इन हरे पत्तो को बहुत ही अच्छे मन से खाती है! वर्षा ऋतू  के महीने में सभी फूलो के पेड़ो नये नये फूल भी निकलते है! वर्षा ऋतू  में किसानो के खेत पूरी  हरियाली के साथ लहलहाते है! और सभी किसानो के खेतो में केवल हरियाली ही हरियाली दिखाई देती है! वर्षा ऋतू  के महीने में सभी जीव जन्तु प्रजनन का काम करते है और नये बच्चे को भी जन्म देते है! 

वर्षा ऋतू  में जब रात को तारे टिमटिमाते है तो वह नजारा एकदम बहुत ही सुंदर लगता है! वर्षा ऋतू  ही एक ऐसा महिना होता जिस महीने में सभी लोग झूले झूलते है! वर्षा ऋतू  में आपको जगह जगह झुला झूलते हुए लोग दिखाई देंगा!  सहरो के मुकाबले गावो में लोग बहुत ही ज्यादा वर्षा ऋतू में झुला झूलते है! जब वर्षा ऋतू  में लोग झुला झूलते है तो झुला झूलने के साथ साथ लोग तरह तरह के गीत भी गाते है! वर्षा ऋतू  के फायदे के साथ साथ बहुत सारे नुकसान भी होते है! क्योकि अगर वर्षा ऋतू  में कभी बहुत ज्यादा बारिश हो गयी तो जगह जगह बाढ़ भी आ जाता है! 


इंडिया में अक्सर देखा गया है की वर्षा ऋतू  में बहुत से जगह पर ज्यादा बारिश होने के वजह से बाढ़ भी आती है! अगर वर्षा ऋतू  में कही बाढ़ आ जाती है तो उस बाढ़ की वजह से बहुत ज्यादा जन और धन दोनों का नुकसान होता है! इस तरह से हम कह सकते है! की वर्षा ऋतू  के महीने में बहुत सारे फायदे के साथ साथ ये एक मुख्य नुकसान भी है! इसलिए वर्षा ऋतू  के महीने में हमको इसके लिए पूरी तरह से तैयार रहना चाहिये!


वर्षा ऋतू  के महीने में बाढ़ आने पर बाढ़ से ग्रसित इलाके में जन-धन-अन्न तीनो की बहुत हानि होती है! इसके साथ साथ सभी के घर भी पानी में डूब जाते है! जिसके कारण लोगो को अपना वह स्थान छोड़कर दुसरे जगह पर जाना पड़ता है! बाढ़ आने पर लोग  मच्छर तथा कीड़े से भी बहुत परेशान हो जाते है! क्योकि बाढ़ आने पर पूरा इलाके में पानी भर जाता जिससे वहां पर मच्छर तथा कीड़े बहुत ज्यादा पैदा होने लगते है! इसलिए हम सभी को भगवान से ये दुआ करना चाहिये की कभी भी कही पर भी वर्षा ऋतू के महीने में बाढ़ ना आये! वर्षा ऋतू  एक तरह से त्योहार की भी ऋतू है! 


वर्षा ऋतू  के तीन महीने में कई त्योहार मानने का अवसर मिलता है! वर्षा ऋतू  में पड़ने वाला सबसे पापुलर त्योहार जन्माष्टमी है! इसमें कोई शक नहीं है की जन्माष्टमी का त्योहार वर्षा ऋतू  के महीने में ही पड़ता है! जन्माष्टमी का त्योहार हम लोग भगवन श्रीकृष्ण के जन्म के रूप में मनाते है! जिस दिन जन्माष्टमी मनाई जाति है उसी दिन  भगवन श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था! ये हम सभी के लिए एक ख़ुशी की बात है की हर साल जन्माष्टमी का पर्व वर्षा ऋतू  के महीने में ही आता है! 


इंडिया में लोग जन्माष्टमी को बहुत ही धूम धाम से मनाते है! जन्माष्टमी के दिन पुरे भारत में दही और हांड़ी का आयोजन किया जाता है! जन्माष्टमी  भारत का के पापुलर पर्व है! भारत में वर्षा ऋतू  के महीने का बहुत महत्व है! क्योकि भारत एक कृषिप्रधान देश है और भारत में कृषि करने वाले बहुत ज्यादा लोग है! इसी कारण सभी कृषि करने वाले किसानो को हर साल वर्षा ऋतू  के महीने का इन्तजार रहता है! भारत के किसानो की ज्यादातर खेती बारिश पर निर्भर रहती है! इसलिए भारत में वर्षा ऋतू का बहुत महत्व है!



भारतीयों के लिए वर्षा ऋतू  किसी वरदान से कम नहीं है! इसलिए हमको वर्षा ऋतू  के वैल्यू को समझना चाहिये! और वर्षा ऋतू में होने वाले बारिश के पानी का सही तरीके से उपयोग करना चाहिये! वर्षा ऋतू  में होने वाले बारिश के पानी को हमको निकास करना चाहिये! ताकि जरूरत पड़ने पर हम उसका उपयोग करने उसका लाभ उठा सके! वर्षा ऋतू  के बहुत ही बढ़िया ऋतू है! जो अपने साथ हमारे लिए बहुत कुछ लेकर आती है! हम सभी को हर साल वर्षा ऋतू  के महीने का इतजार रहता है! 

मै उम्मीद करता हु की आपको Essay On Rainy season in Hindi पसंद आया होगा! यदि आपको ये Rainy season in Hindi पसंद आया है तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले!